उत्तराखंड में बारात की कार खाई में गिरी मचा कोहराम, तीन की मौत

घनसाली (टिहरी). भेटी गांव से बरात लेकर कोट गांव जा रही एक कार दुर्घटनाग्रस्त होने से तीन बरातियों की मौके पर ही मौत हो गई। वाहन चालक गंभीर रूप से घायल हो गया, जिसे सीएससी बेलेश्वर में प्राथमिक उपचार के बाद एयर लिफ्ट कर हायर सेंटर एम्स ऋषिकेश रेफर किया गया है।

मंगलवार को भेटी गांव के शांति लाल के बेटे की बरात कोट जा रही थी। बूढ़ाकेदार-कोट विशन मार्ग पर दोपहर 1.45 बजे बरात में शामिल कार कोट विशन इंटर कॉलेज के समीप दुर्घटनाग्रस्त होकर करीब 400 मीटर नीचे बालगंगा नदी किनारे जा गिरी। दुर्घटना में रामलाल (48) पुत्र भरपुरू, मोहन लाल (62) पुत्र छिल्लो शाह और सोहन लाल (48) पुत्र जौहरी लाल तीनों निवासी भेटी गांव की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि वाहन चालक भेटी गांव निवासी नरेंद्र कुमार (32) पुत्र बच्चू शाह गंभीर रूप से घायल हो गया।
कोट गांव के लोगों की मदद से घायल वाहन चालक और शवों को खाई से किसी तरह बाहर निकाला गया। इस बीच राजस्व, रेगुलर पुलिस और एसडीआरएफ की टीम भी मौके पर पहुंची। राजस्व उप निरीक्षक गब्बर सिंह रावत ने बताया कि मृतकों का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बेलेश्वर में पोस्टमार्टम कराया जाएगा। दुर्घटना का प्रारंभिक कारण कार की तेज रफ्तार बताई जा रही है।
भेटी और कोट गांव में पसरा मातम
बरात का वाहन दुर्घटनाग्रस्त होने से भेटी और कोट गांव में चारों तरफ कोहराम मच गया। भेटी गांव के तीन लोगों की कार दुर्घटना में मौत की सूचना से भेटी और कोट गांव में मातम छा गया। शादी की खुशिया पलभर में ही काफूर हो गई।

बरात की कार दुल्हन के घर पहुंचने से करीब एक किमी पहले ही दुर्घटनाग्रस्त हो गई, जिससे पूरे कोट गांव में अफरा-तरफी मच गई। बरात स्वागत करने के बजाय लोग दौड़ते भागते हुए दुर्घटना स्थल पर पहुंचे। तीन बरातियों के शव खाई में देखकर लोग चीखने और बिलखने लगे। एक घंटे तक लोग समझ नहीं पाए कि अब क्या करना है।

महिलाओं का रो-रोकर बुरा हाल था। गांव के बुजुर्गों ने किसी तरह हिम्मत बंधाई। दूल्हा और तीन चार बराती दुल्हन के घर कोट गांव पहुंचे। किसी तरह से शादी की रश्मे निभाई गई। इस दौरान सभी के चेहरों पर मायूसी छाई हुई थी। दुर्घटना की सूचना पर दूल्हे के भेटी गांव में भी मृतकों के परिजनों और नाते रिश्तेदारों की चीख पुकार मच गई।

loading…