उत्तराखंड में कांग्रेस ने सरकार के खिलाफ किया उपवास, सामने रखी अपनी यह मांगे..

देहरादून | किसानों का कर्ज माफ करने, चीनी मिलों बकाया भुगतान, बिजली-पानी के बिल माफ करने की मांग को लेकर कांग्रेस ने राजीव भवन में उपवास रखा। प्रदेश कांग्रेस और किसान कांग्रेस के शीर्ष पदाधिकारियों ने सरकार पर किसान विरोधी होने का आरोप लगाया। कहा कि केंद्र और भाजपा के केंद्र व राज्य की सत्ता में आने के बाद किसान अपने जीवन का सबसे बुरा दौर देख रहे हैं।

इन दोनों ही सरकारों को सत्ता में रहने का अधिकार नहीं है। मंगलवार को राजीव भवन में द्वाराहाट विधायक महेश नेगी के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर विरेाध-प्रदर्शन किया जाएगा। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार ने किसानों से कर्ज माफ करने का वादा किया था। वो वादा आज तक पूरा नहीं हुआ।

रनपहले प्राकृतिक प्रकोप और कोरोना की वजह से किसान बहुत संकट में हैं। सरकार को कोई परवाह ही नहीं है। दुखी किसान आत्महत्याएं करने का मजबूर हैं और सरकार सोई हुई है। राष्ट्रीय महासचिव पूर्व सीएम हरीश रावत ने कहा कि कांग्रेस ने सरकार में रहते हुए किसानों के लिए कई अहम फैसले किए थे। गन्ना किसानों का भुगतान कराया, मुआवजा की राशि को छह गुना ज्यादा तक बढ़ाया। किसानों के लिए पेंशन लागू की।

और मौजूदा भाजपा सरकार किसानों के लिए कुछ करना तो उनकी सुनवाई तक नहीं कर रही है। सभी को मिलकर इसके खिलाफ आवाज उठानी होगी। पूर्व प्रदेश अध्यख किशोर उपाध्याय ने कहा कि वर्तमान सरकार अब तक की सबसे भ्रष्टतम सरकार है। किसान देश के अन्नदाता है। सरकार को किसानों की पीड़ा से कोई मतलब ही नहीं है। कांग्रेस इसे बर्दास्त नहीं करेगी।

किसान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सुशील राठी ने कहा कि यदि यदि सरकार ने ब्याज, बिजली-पानी के बिल माफ किए, गन्ना किसानों का बकाया भुगतान न किया तो प्रदेश स्तर पर आंदोलन छेड़ दिया जाएगा। दोपहर राजीव भवन आए अपर सिटी मजिस्टेट के जरिए राठी ने उन्हें सीएम को संबोधित ज्ञापन सौंपा।

रहे मौजूद:
किसान कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सुरेंद्र सिंह सोलंकी, महामंत्री-संगठन विजय सारस्वत, प्रदेश महामंत्री नवीन जोशी,एससी विभाग के प्रदेश अध्यक्ष राजकुमार, सरोजनी कैंत्यूरा, महानगर अध्यक्ष लालचंद शर्मा, यूथ कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष सुमित्तर भुल्लर, गरिमा दसौनी, कमलेश रमन आदि।

शीर्ष नेताओं में दिखी एकजुटता
देहरादून। किसानों समस्याओं के लिए उपवास कार्यक्रम में कांग्रेस के शीर्ष नेताओं में एकजुटता दिखाई दी। प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह, पूर्व सीएम हरीश, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय सुबह 11 बजे से दोपहर ढाई बजे तक धरना स्थल पर ही डटे रहे।

ये भी पढेंः खबरें हटके

big news

loading…


Trending Posts