जमातियों की पैरवी करने वाले अधिवक्ता का चैंबर छुड़वाया, बोर्ड से नाम हटाया

बागपत। उत्तर प्रदेश के बागपत में नेपाल के जमातियों की पैरवी करने वाले अधिवक्ता से चैंबर छुड़वा दिया गया। बोर्ड से भी नाम हटा दिया गया है। 
कचहरी में ब्लॉक-ए का 38 नंबर चैंबर अधिवक्ता रमाकांत शर्मा को अलॉट है। उनके साथ खट्टा गांव के अधिवक्ता रणवीर चौधरी और नफीस अहमद भी इसी चैंबर पर प्रैक्टिस करते हैं। अधिवक्ता नफीस अहमद ने नेपाल से आए जमातियों की जमानत की पैरवी शुरू की थी। जमीयत उलमा ने इसके लिए  नफीस अहमद से संपर्क किया था। शुक्रवार को एडवोकेट रमाकांत शर्मा और अधिवक्ता रणवीर चौधरी ने चैंबर से नफीस अहमद का अलग  कर दिया। उनके नाम को पेंट करा दिया गया। यही नहीं नोटिस चस्पा किया गया है। जमातियों और हिमातियों को चैंबर पर प्रवेश वर्जित कर दिया गया है। अधिवक्ता रणवीर का कहना है कि उनके साथी ने पैरवी करने से पहले मशवरा तक नहीं किया। कोरोना काल में वह देश के साथ हैं।

loading…