मुजफ्फरनगर में किसान की आत्महत्या पर गर्म हुए जयंत चौधरी, कही ये बडी बात…

मुजफ्फरनगर। राष्ट्रीय लोकदल के उपाध्यक्ष तथा पूर्व सांसद जयंत चौधरी ने आज पश्चिमी उत्तर प्रदेश के पार्टी नेताओं तथा कार्यकर्ताओं के साथ वेबिनार बैठक की। इस दौरान उन्होनें कहा कि रालोद भाजपा शासन में शोषित किसान-मजदूरों की लडाई लडेगा। वेबिनार में मुजफ्फरनगर जनपद के पदाधिकारी भी शामिल हुए।
आज राष्ट्रीय लोकदल की वेबिनार बैठक आयोजित की गई, जिसमें रालोद से जुडे पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जिलों के पदाधिकारी भी शामिल हुए। बैठक की अध्यक्षता प्रदेश अध्यक्ष डॉ मसूद अहमद पूर्व मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार एवं संचालन राजा ऐश्वर्या सिंह राष्ट्रीय अध्यक्ष सोशल मीडिया ने किया। बैठक में मुख्य अतिथि के रूप में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी उपस्थित रहे। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए जयंत चौधरी जी ने कहा कि सरकार की कथनी और करनी में बड़ा अंतर है। सरकार एक करोड़ रोज़गार के दावे कर रही है, परंतु नोएडा की फैक्टरियों से श्रमिको को निकाला जा रहा है। कोरोनकाल में अनेक दावे किए गए किंतु सच्चाई दावो के बिल्कुल विपरीत है। जयंत चौधरी ने कहा कि प्रदेश में किसान मजदूर ओर व्यापारी आत्महत्या करने को मजबूर हो रहे है। उन्हें लागत का आधा पैसा भी नही मिल रहा है। किसान का लगभग 17000 करोड़ रुपया चीनी मिलों पर बकाया है। सरकार किसान को पैसा देने पर गंभीर नही है, जिसके चलते मुज़फ्फरनगर के सिसौली में किसान ने आत्महत्या कर ली। किसान ट्रस्ट द्वारा पीड़ित परिवार की मदद की जा रही है और किसान ट्रस्ट ने निर्णय भी लिया है कि ट्रस्ट एक वर्ष में 10 पीड़ित परिवारों की आर्थिक मदद करेगी। जयंत चौधरी ने पदाधिकारियों से कहा कि कोरोनाकाल मे सभी का बचाव करते हुए आम आदमी की आवाज को राष्ट्रीय लोकदल बुलंद करेगा ओर गरीब मज़लूम, मज़दूर का उत्पीड़न बर्दाश्त नही किया जाएगा। बैठक में राष्ट्रीय महासचिव डॉ राजेन्द्र शर्मा, प उत्तर प्रदेश प्रभारी पूर्व सांसद मुंशी राम पाल, हस्तिनापुर ज़ोन अध्यक्ष यशवीर सिंह, प्रदेश प्रवक्ता अभिषेक चौधरी गुर्जर, मुजफ्फरनगर जिलाध्यक्ष अजित राठी, पूर्व मंत्री योगराज सिंह, योगेंद्र चैयरमेन, राव केसर, राहुल देव आदि उपस्थित रहे।

loading…