खेत से एक साथ निकले सैंकडों सांप गांव की और दौडे तो मच गया कोहराम, फिर तो बिछ गई लाशें

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में एक अनोखा मामला सामने आया है जहां एक ही खेत से एक साथ सैंकडों सांप निकल आए। आरोप है कि खेत से निकले सैंकडों सांप अचानक गांव की और दौडे तो लोगां में हडकंप मच गया, जिसके बाद लोगों ने उन्हें पीट-पीटकर मार डाला। अब वन विभाग सांपों का पोस्टमार्टम कराने के बाद खेत मालिक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की तैयारी में हैं।

गोरखपुर जिले के खोराबार थानाक्षेत्र के अराजी बसडीला में खेत से मिले सांपों का मंगलवार को पोस्टमार्टम हो गया। हालांकि रिपोर्ट एक दिन बाद आएगी। वन विभाग सांपों की संख्या 90 बता रहा है जबकि मंगलवार को ग्रामीणों का कहना था कि सांप दो सौ से अधिक की संख्या में है। वन विभाग पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद खेत मालिक के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराएगा। अराजी बसडीला गांव में सोमवार को मोतीलाल के खेत से बड़ी संख्या में सांप मिले। ग्रामीणों के अनुसार सांप एक ही बिल से निकले थे। वन विभाग ने मंगलवार को पशु चिकित्साधिकारी कुसुम्ही जंगल, डॉ. एसके चौधरी से सांपों का पोस्टमार्टम कराया। बाद में उन्हें रामगढ़ वन चौकी क्षेत्र में गड्ढा खोदकर दफन कर दिया गया। वन विभाग के अनुसार सभी सांप चेकर्ड कील बैक (पानी वाले सांप) प्रजाति के हैं। इनकी फैमिली कोलू ब्रिड बताई जा रही है। इस प्रजाति का सांप एक बार में 80 से 90 की संख्या में अंडे दे सकता है। सांप जहां से मिले हैं, वहां बिल का फैलाव जाल की तरह है। ऐसे में संभव है कि कई और बिल से भी सांप वहां आ गए हों। खेत से मिले सांपों की लंबाई करीब करीब एक-एक हाथ की है, पर वन विभाग इनकी लंबाई औसत रूप से सात इंच बता रहा है। सांप काटने से मौत होने पर चार लाख रुपये तक का मुआवजा मिल सकता है। दावा करने पर आपदा राहत के यह मुआवजा मिलता है। अधिकांश लोगों को इसकी जानकारी न होने से उन्‍हें मुआवजा नहीं मिल पाता है। गोरखपुर जिले में 2019 में कुल 16 लोगों को 4-4 लाख रुपये का मुआवजा मिलता है।

loading…