अभी अभीः यूपी में लाॅकडाउन ढील को लेकर झटका! आई ऐसी खबर

लखनऊ. अगर आप यूपी में रह रहे हैं और लॉकडाउन-4.0 में ढील की आस लगाए बैठे हैं तो आपको निराश होना पड़ सकता है. प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी यूपी में लॉकडाउन के चौथे चरण के लिए गाइडलाइन तैयार करने में जुटे हैं. पिछले दो लॉकडाउन के चरणों के मुताबिक, इस बार भी प्रदेश सरकार अपनी गाइडलाइन में सभी जिलाधिकारियों को स्थानीय परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए लॉकडाउन में सख्ती या छूट देने का निर्णय लेने का अधिकार दे सकती है. ऐसा होने पर यूपी के जिलों में लॉकडाउन में ज्यादा छूट मिलने की संभावना नहीं है क्योंकि कोरोना संक्रमण से जूझ रहे जिलों के डीएम किसी प्रकार की नई छूट देकर कोताही बरतने का संदेश नहीं देना चाहते हैं।

लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने बताया कि लॉकडाउन-4.0 में कोई नई छूट नहीं मिलेगी. आवश्यक सेवाओं का संचालन पहले की तरह जारी रहेगा. हालांकि कुछ राहत की बात यह होगी कि निजी क्लीनिक और नर्सिंग होम मुख्य चिकित्साधिकारी सीएमओ की अनुमति से खुल सकेंगे. नगर क्षेत्र में मुख्य सड़क के दोनों ओर मार्केट या कांप्लेक्स में केवल आवश्यक सेवाओं की सिंगल दुकानें ही खुलेंगी. सरकारी और निजी कार्यालय एक तिहाई कर्मचारियों के साथ संक्रमण के उपायों को अपनाते हुए खुलेंगे. शहरी क्षेत्रों में औद्योगिक प्रतिष्ठान, उत्पादन इकाइयों को शर्तों के साथ चलाने की अनुमति होगी. अभिषेक प्रकाश बताते हैं “स्थितियों का आकलन करने के बाद ही पाबंदियों को हटाने का निर्णय लिया जाएगा.”

लखनऊ से सटे कानपुर जिले में भी यहां के जिलाधिकारी ब्रह्मदेव तिवारी किसी नई छूट देने के पक्षधर नहीं हैं. जिले के सभी औद्योगिक क्षेत्रों में सभी श्रेणियों की ईकाइयों में काम शुरू हो गया है. हॉटस्पॉट के बाहर के कारखाने भी चल रहे हैं. आवश्यक वस्तुओं से जुड़ी दुकानें भी खुल रही हैं. कानपुर में मिठाई की दुकानों से होम डिलीवरी का आदेश तो प्रशासन पहले ही कर चुका है.

यहां सबसे ज्यादा संकट यात्री वाहनों के न चलने से है. यात्री वाहनों के न चलने से औद्योगिक इकाइयों में मैनपावर का संकट बताया जा रहा है. इस वजह से उत्पादन प्रभावित हो रहा है. वैसे औद्योगिक क्षेत्रों तक बसें चलाई गई हैं, लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों से कर्मचारियों के न आने से उद्यमियों को दिक्कत हो रही है. अब कानपुर प्रशासन को तय करना है कि वहां सवारी वाहनों को चलने की अनुमति दी जाएगी या नहीं. कानपुर में कोरोना संक्रमितों के ठीक होने का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है. अब संक्रमित मरीजों की संख्या 65 ही रह गई है.

loading…