अभी-अभीः देश के लिए बुरी खबर, वैक्सीन से 1 की मौत, 447 का हुआ ऐसा हाल, यहां देंखे


नई दिल्ली। 16 जनवरी से शुरु हुए इस अभियान के बीच थोड़ी परेशानी बढ़ाने वाली खबर सामने आई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि कोरोना वैक्सीन लेने के बाद अब तक कुल 447 लोगों पर प्रतिकूल प्रभाव देखने को मिला है. इनमें से तीन लोगों को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा है. वहीं मुरादाबाद में वैक्सीन को लेकर बड़ा विवाद हो गया है. यहां 46 साल के एक स्वास्थ्य कर्मी की मौत हो गई है. जिला अस्पताल में वॉर्ड ब्वॉय महिपाल सिंह को 16 जनवरी को कोरोना का टीका लगाया गया था. परिवार का आरोप है कि टीका लगाने के बाद उनकी तबीयत बिगड़ गई. इसके बाद महिपाल को तुरंत अस्पताल ले जाया गया लेकिन कल जिला अस्पताल में ही उन्होंने दम तोड़ दिया.

परिवार का आरोप है कि टीका लगाने के पहले महिपाल की मेडिकल जांच भी नहीं की गई थी. महिपाल की मौत के बाद उसके परिजनों को सांत्वना देने पहुंचे मुरादाबाद के मुख्य चिकित्सा अधिकारी एससी गर्ग ने कहा है कि महिपाल को सीने में जकड़न और साँस लेने में दिक्कत हो रही थी जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया था.

बता दें कि कोरोना वैक्सीन लगाने के बाद कई लोगों में वैक्सीन का प्रतिकूल प्रभाव देखने को मिल रहा है. दिल्ली के 52 हेल्थ वर्कर्स को टीका लगवाने के बाद दिक्कत का सामना पड़ा है. वैक्सीन लेने वाले हेल्थ वर्कर्स में किसी को एलर्जी की शिकायत हुई थी तो कुछ ने बताया है कि वैक्सीन लगवाने के बाद उन्हें घबराहट होने लगी. दिल्ली में जिन 52 हेल्थ वर्कर्स को वैक्सीन लगवाने के बाद दिक्कत हुई है उनमें से एक वर्कर को AEFI सेंटर में भर्ती कराना पड़ा. बता दें कि देश में अबतक कुल 2,24,301 लोगों को वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है.

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि 16 जनवरी को कोरोना वैक्सीन दिए जाने के बाद 51 हेल्थ वर्कर्स में मामूली दिक्कत देखने को मिली जबकि एक केस थोड़ा गंभीर दिखाई पड़ा. जिस हेल्थ वर्कर को एडमिट कराया गया है, उसकी उम्र 22 साल है और वह सिक्योरिटी में काम करता है.

इस शख्स को एम्स में भर्ती कराया गया है. बाकी 51 को थोड़ी देर के निरीक्षण के बाद छुट्टी दे दी गई.बता दें कि सरकार ने हर सेंटर पर एक एईएफआई केंद्र बनाया है, जहां टीका लगने के बाद दुष्प्रभाव मिलने पर चेकअप की सुविधा मिलती है.

ये भी पढेंः खबरें हटके

big news