लॉकडाउन में किसानों के लिए आई बड़ी खुशखबरी! मोदी सरकार ने किया ये बडा ऐलान…

नई दिल्ली. किसानों की मदद के लिए सरकार कई स्कीम चलाती है. इसमें से एक किसान क्रेडिट कार्ड है. इसके जरिए किसानों को 1.6 लाख रुपये का लोन बिना गारंटी के दिया जाता है. वहीं, 3 साल में किसान इसके जरिए 5 लाख रुपये तक का लोन ले सकते हैं. इस कार्ड में ब्याज दर भी बेहद कम 4 फीसदी सालाना है. लेकिन अब 7 करोड़ किसानों को बड़ी राहत देते हुए केसीसी पर लिए गए लोन के भुगतान की तारीख आगे बढ़ाकर जल्द 31 अगस्त किया जा सकता है. क्योंकि आरबीआई ने इसकी छूट दे दी है. हालांकि, बैंकों के पास अभी तक अधिसूचना नहीं पहुंची है. इसीलिए किसानों को इसकी जानकारी नहीं मिली है.
इसका मतलब साफ है कि किसान केसीसी कार्ड के ब्याज को सिर्फ 4 प्रतिशत प्रति वर्ष के पुराने रेट पर ही भुगतान कर सकते हैं. कोरोना वायरस लॉकडाउन में किसानों को राहत देने के लिए यह निर्णय लिया गया है. खेती-किसानी के लिए केसीसी पर लिए गए तीन लाख रुपये तक के लोन की ब्याजदर वैसे तो 9 फीसदी है. लेकिन सरकार इसमें 2 परसेंट की सब्सिडी देती है. इस तरह यह 7 फीसदी पड़ता है. लेकिन समय पर लौटा देने पर 3 फीसदी और छूट मिल जाती है. इस तरह इसकी दर ईमानदार किसानों के लिए मात्र 4 फीसदी रह जाती है. आमतौर पर बैंक किसानों को सूचित कर 31 मार्च तक कर्ज चुकाने के लिए कहते हैं. अगर उस समय तक कर्ज का बैंक को भुगतान नहीं करते हैं तो उन्हें 7 फीसदी ब्याज देना होता है. कोविड-19 संकट को देखते हुए सरकार ने इसी बढ़े ब्याज पर राहत देकर 31 मई तक उनसे सिर्फ 4 फीसदी रेट पर ही पैसा वापस लेने का फैसला लिया है.
उत्तर प्रदेश के जिले अमरोहा में स्थित प्रथमा बैंक के ब्रांच मैनेजर अंकुर त्यागी ने बताया कि 1 हेक्टकेयर जमीन पर 2 लाख रुपये तक का लोन मिल सकता है. लोन की लिमिट हर बैंक की अलग-अलग होती है. बैंक आपको इसके लिए किसान क्रेडिट कार्ड जारी करेगा. जिसके जरिए आप कभी भी पैसा निकाल सकते है.

loading…