राजस्थान में हनुमान जी की मूर्ति के सामने घंटों बैठी रही नागिन, श्रद्धालुओं की लगी भीड़

झालावाड़: भगवान की भक्ति ऐसी होती है कि, हर कोई इनकी ओर खींचा चला आता है, ऐसे में कुछ घटनाएं तो किसी चमत्कार से कम नहीं लगती है. ऐसा ही नजारा झालावाड़ जिले के गंगधार कस्बे में छोटी काली सिंध नदी के तट पर स्थित हनुमान मंदिर पर देखने को मिला, यहां फन फैलाए एक नागिन संकट मोचन हनुमान प्रतिमा के पास करीब आधे घंटे तक बैठी रही.

एक श्रद्धालु ने इस अद्भुत दृश्य को अपने मोबाइल मे कैद कर लिया. कस्बे के नागरिकों को जैसे ही सूचना मिली कई लोग चमत्कार मानते हुए, इस नजारे को देखने मंदिर पहुंचने लगे. किसी ने इसे सामान्य घटना माना, तो किसी ने चमत्कार, लेकिन करीब आधे घंटे तक हनुमान प्रतिमा के चरणों में बैठे रहने के बाद नागिन छोटी काली सिंध नदी की ओर चली गई. इस दौरान मोबाइल में कैद किए गए दृश्य कस्बे में कौतूहल का विषय बने हुए हैं.

बता दें कि, राजस्थान के ग्रामीण क्षेत्रों में श्रद्धालुओं की सीमित संख्या वाले धार्मिक स्थल 1 जुलाई से फिर से खुलेंगे, जबकि शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में बड़े धार्मिक स्थल कोविड-19 (COVID-19) महामारी के कारण बंद रहेंगे. राज्य सरकार ने अन्य राज्यों से राजस्थान आने वालों के लिए 14 दिवसीय होम क्वांरटीन की अनिवार्यता को भी हटा दिया है.

हालांकि, उन्हें सभी नियमों का अनुपालन करना होगा और कोरोना के लक्षण नजर आने पर जांच करानी होगी. ये फैसले रविवार रात मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) की अध्यक्षता में हुई समीक्षा बैठक में लिए गए. मुख्यमंत्री ने कहा कि, ग्रामीण क्षेत्र में केवल उन्हीं धार्मिक स्थलों को खोलने की अनुमति होगी, जहां सामान्य दिनों में प्रतिदिन 50 या इससे कम लोग आते हैं.

सीएम गहलोत ने कहा कि लॉकडाउन (Lockdown) के कारण बंद हुए धार्मिक स्थलों को खोलने के लिए जिला कलेक्टरों की अध्यक्षता में गठित की गई कमेटियों के सुझावों के आधार पर शहरों में सभी और ग्रामीण क्षेत्रों में बड़े धार्मिक स्थलों को फिलहाल नहीं खोला जाएगा.