राजस्थान में मौसम की मार, सात की मौत, आने वाले 24 घंटों में…

जयपुर। प्रदेश में मई में हुई बारिश ने जहां लोगों को राहत दी है, तो वहीं दूसरी ओर मौसम के अचानक करवट लेने से मुसीबते भी बढ़ गई है। रविवार को हुई बारिश के बाद प्रदेश में इसके चलते सात लोगों की मौत की खबर भी सामने आई है। तो वहीं प्रदेश के कई जिलों में ओलावृष्टि होने से खेती को नुकसान होने की संभावनाएं भी बढ़ी है। कई जिलों से मिली खबर के अनुसार मौसम के बदलाव के साथ कई स्थानों पर धूलभरी आंधी और खंभे उखड़ने , टीन टप्पर उड़ने , पेड़ों के गिरने और आकाशीय बिजली के गिरने की जानकारी सामने आई है। साथ ही इसके चलते प्रदेश में मौत होने की खबर भी सामने आई है। राजधानी जयपुर में तीन लोगों की मौत इस प्राकृतिक आपदा के कारण हुई है।

मिली जानकारी के अनुसार जहां श्रीगंगानगर में आंधी के साथ बारिश का सिलसिला शुरू हुआ, जिससे कटी हुई फसलों को भी नुकसान हुआ है। वहीं अलवर में ओले गिरने के कारण भी कई जगह नुकसान की खबर सामने आ रही है। दोनों की जगह एक-एक किसान के मौत की सूचना भी मिली है। वहीं अलवर के सरिस्का जंगल मे बारिश ने मौसम को सुहावना कर दिया है। भरतपुर के नदबई और कुम्हेर इलाके में 20 मिनट तक ओले गिरने की सूचना मिली है। शेखावाटी क्षेत्र सीकर के नीमकाथाना, फतेहपुर और लक्ष्मणगढ़ इलाके में भी ओले गिरने की बात सामने आई है। हालांकि सभी जगह तापमान में गिरावट दर्ज की गई है।

मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार आगामी दिनों में भी मौसम में बदलाव देखने को मिल सकते हैं। लिहाजा इसके लिए अलर्ट जारी कर दिया गया है। राजस्थान के 25 जिलों के लिए यह अलर्ट जारी किया गया है, जिसके अनुसार चक्रवाती तंत्र संक्रिय होने पर प्रदेश में अगले 48 घंटों में अंधड़, बारिश और ओलावृ्ष्टि होने की सूचना मिल रही है। यह बताया जा रहा है कि 4 से लेकर 6 मई तक मौसम का मिजाज बदल सकता है। साथ ही प्रदेश में गर्मी के तेवर भी बार -बार बदलने की संभावना है।

loading…