राजस्थान में कल से अनलॉक, नई गाइडलाइन के तहत…

जयपुर। राजस्थान में कोरोना के कारण बिगड़े हालात अब काबू होते दिख रहे हैं, ऐसे में अब यहां भी 1 जून से मिनी अनलॉक की तैयारियां शुरू हो गई हैं। प्रदेश के 21 जिलों में पॉजिटिविटी रेट 5% से नीचे आ गया है, ऐसे में यहां अनलॉक में दिक्कत नहीं है। 1 जून से मिनी अनलॉक ही होगा, जिसमें मौजूदा दुकानों के खुलने का समय बढ़ाने के अलावा बाजार में कुछ और दुकानों को खोलने की अनुमति दी जा सकती है। मंत्रियों ने भी व्यापार और आवाजाही में छूट देने की मांग की है।

गृह विभाग ने अनलॉक की गाइडलाइन तैयार कर ली है। आज शाम इसे मुख्यमंत्री से मंजूरी मिलने के बाद जारी किया जाएगा। प्रदेश में 8 जून तक लॉकडाउन है, इसलिए ज्यादा छूट मिलने के आसार नहीं हैं। राजस्थान में 17 अप्रैल से ही बाजार बंद हैं। राशन, खाद्य सामग्री, मेडिकल, दूध, फल-सब्जी और मंडी के अलावा सब कुछ बंद है।

गृह विभाग के सूत्रों के मुताबिक, अनलॉक के पहले चरण में रोजमर्रा की जरूरत वाली दुकानों को खोलने की मंजूरी दी जाएगी। किराना और खाद्य सामग्री, दूध, डेयरी जैसी दुकानों के खुलने का समय बढ़ना तय है। किराना दुकानों के खुलने का समय सुबह 6 से 11 बजे तक है, जिसे शाम 5 बजे तक बढ़ाया जा सकता है। कम भीड़ वाली दुकानों को अनुमति मिलेगी।

मिनी अनलॉक के तहत पहले फेज में एक्सपर्ट्स ने कुछ बंदिशें ही हटाने का सुझाव दिया है। इसके आधार पर ही गाइडलाइन तैयार की गई है। पहले से जिन दुकानों और गतिविधियों को छूट मिल रही है, उनकी संख्या में और बढ़ोतरी की जाएगी। 8 जून के बाद ज्यादा छूटें मिलेंगी।

इन 21 जिलों में पॉजिटिविटी रेट 5% से कम, यहीं छूट मिलने के आसार
प्रदेश के 21 जिले ऐसे हैं जहां कोरोना पॉजीटिविटी रेट 5% से नीचे आ गया है। इनमें अजमेर, नागौर, झालावाड़, भीलवाड़ा, जालौर, सिरोही, भरतपुर,धौलपुर, दौसा, बूंदी, बारां, टोंक, सवाईमाधोपुर, करौली, बाड़मेर, बांसवाड़ा, डूंगरपुर, प्रतापगढ़, चितौड़गढ़ और राजसमंद शामिल हैं। नई गाइडलाइन में इन्हें ही रियायत मिलने की उम्मीद है।

आवागमन पर रोक हट सकती है, निजी वाहनों को अनुमति संभव
अनलॉक में एक जिले से दूसरे जिले, एक शहर से दूसरे शहर और एक गांव से दूसरे गांव में आवागमन पर लगी रोक हट सकती है। निजी वाहनों को शर्तों के साथ अनुमति दी जा सकती है।

इलेक्ट्रॉनिक की दुकानों को खोलने की मंजूरी मिल सकती है
गर्मी के सीजन को देखते हुए इलेक्ट्रॉनिक सामान की दुकानों को खोलने की मंजूरी मिलना तय है। इनके साथ पंखा, AC, कूलर रिपेयरिंग की दुकानों को भी अनुमति मिलना तय है। कई व्यापारिक संगठन भी इसकी मांग कर रहे थे।

प्रदेश में 8 जून तक लॉकडाउन बढ़ाने की गाइडलाइन में ही 1 जून से अनलॉक का जिक्र किया गया है। पहले सरकार की रणनीति चुनिंदा जिलों में अनलॉक की शुरुआत करने का था। पर अब सरकार ने रणनीति बदल दी है। अब कंटेनमेंट जोन को छोड़कर सभी जिलों में अनलॉक लागू करने का सुझाव दिया गया है। इस पर आज ही मुख्यमंत्री स्तर पर फैसला होगा कि पूरे प्रदेश में एक तरह की छूट दी जाए या संक्रमण रेट के हिसाब से अनलॉक किया जाए।