दिलचस्प: जब सब काम छोड़ सीएम गहलोत फुटबॉल में मारने लगे किक

जयपुर: राजस्थान में राज्यसभा चुनाव को लेकर चल रही सियासी उठापटक के बीच रविवार को क्रिकेट और फुटबॉल का खेल भी छाया रहा. बाड़ाबंदी के बीच विधायकों ने होटल परिसर में क्रिकेट और फुटबॉल का लुफ्त उठाया. प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे विधायकों के साथ खेल में शामिल हुए वहीं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने फुटबॉल पर आजमाइश की.

राज्यसभा चुनाव में हॉर्स ट्रेडिंग रोकने के लिए कांग्रेसी और निर्दलीय विधायकों की दिल्ली रोड स्थित जेडब्ल्यू मैरियट होटल में बाड़ा बंदी चल रही है. बाड़ा बंदी के बीच रविवार शाम विधायक क्रिकेट खेलने होटल परिसर में उतरे. मैदान में वरिष्ठ विधायकों से लेकर पहली बार चुने गए विधायक तक शामिल थे. क्रिकेट के साथ ही कुछ विधायकों ने फुटबॉल खेली. वही एक-दो महिला विधायकों ने बैडमिंटन पर हाथ आजमाएं. विधायक करीब 2 घंटे तक फुटबॉल और क्रिकेट के खेल में मशगूल रहे.

प्रदेश प्रभारी लड़खड़ाए तो विधायक ने संभाला
क्रिकेट मैच के दौरान एक बार विधायकों में तू तू मैं मैं हो गई तब कांग्रेस प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे बाहर मैदान में आए. पांडे ने पहले फुटबॉल खेली. फुटबॉल खेलने के दौरान विधायक हाकम अली से पांडे टकराकर लड़खड़ा गए. इस दौरान साथ खेल रहे पूर्व मंत्री और नवलगढ़ विधायक राजकुमार शर्मा ने पांडे को संभाला.

पांडे ने किया चौधरी बोल्ड
फुटबॉल के बाद पांडे विधायकों के साथ क्रिकेट खेलने आ गए. इस दौरान अविनाश पांडे ने बोलिंग करते हुए महेंद्र चौधरी को बोल्ड कर दिया. यानी सियासत के कप्तान अविनाश पांडे ने दिखा दिया कि न केवल सियासी खेल बल्कि मैदान में भी वह भारी है.

मुख्यमंत्री गहलोत पहुंचे मैदान में
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत होटल जेडब्ल्यू से दोपहर में अपने सरकारी आवास पर पहुंचे. गहलोत ने कोरोना संक्रमण को लेकर कोर ग्रुप के अधिकारियों से चर्चा की. इसके बाद शाम को मुख्यमंत्री वापस बाड़ा बंदी में पहुंच गए. होटल पहुंचने के बाद मुख्यमंत्री सीधे खेल मैदान में विधायकों के बीच पहुंचे. मुख्यमंत्री ने विधायकों के आग्रह पर फुटबॉल पर पैर आजमाएं.

सांस्कृतिक संध्या का लिया आनंद
रात को विधायकों के लिए होटल में सुरमई सांस्कृतिक संध्या आयोजित की गई. इसमें गायक कलाकारों ने फिल्मी गीत संगीत से विधायकों का मनोरंजन किया.

loading…