अभी-अभीः राजस्थान में मौसम विभाग की चेतावनी, इस तारीख तक…

जयपुर. मरुधरा में भीषण गर्मी के बीच आज से नौतपा की शुरुआत हो चुकी है. नौतपा में नौ दिनों तक गर्मी अपने चरम पर होती है और इस अवधि में तापमान बहुत ज्यादा होता है. सूर्य जब चंद्रमा के रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करता है तो नौतपा की शुरुआत होती है. ज्योतिषाचार्यों के अनुसार इस बार नौतपा की शुरुआत 25 मई यानि आज सुबह 7 बजकर 5 मिनट पर हो गया है.

ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक चंद्र देव रोहिणी नक्षत्र का स्वामी है जो शीतलता का कारक है लेकिन इस समय वह सूर्य के प्रभाव में आ जाता है. ज्योतिषाचार्यों के अनुसार सूर्य के रोहिणी नक्षत्र में आने का प्रभाव ज्योतिष गणना के मुताबिक गुरु और शनि की वक्र चाल के चलते नौतपा में धरती खूब तपेगी. 30 मई को शुक्र अपनी ही राशि वृषभ में अस्त हो रहा है जिस कारण नौतपा के अंतिम दो दिनों में गर्मी में कमी आ सकती है.

ज्योतिष गणना के अनुसार नौतपा में इस बार खूब गर्मी रहेगी लेकिन आखिरी दो दिनों में मौसम बदल सकता है. धूलभरी हवाओं के साथ आंधी और बारिश की संभावनाएं भी बन रही हैं.

वहीं मौसम विभाग ने इस वर्ष मानसून के सामान्य रहने का पूर्वानुमान जताया है. मौसम विभाग के अनुसार मानसून इस बार 5 जून के आसपास केरल में दस्तक दे सकता है लेकिन राजस्थान में मानसून के 25 जून के आसपास प्रवेश की संभावना हैं.

ज्योतिषाचार्यो के मुताबिक सूर्य रोहिणी नक्षत्र में 15 दिनों के लिए आता है तो उन पंद्रह दिनों के पहले नौ दिन सर्वाधिक गर्मी वाले होते हैं. सूर्य जब रोहिणी नक्षत्र में होकर वृष राशि के 10 से 20 अंश तक रहता है तब नौतपा की स्थिति बनती है. इन्हीं शुरुआती नौ दिनों को नौतपा के नाम से जाना जाता है. इस दौरान धऱती पर सूर्य की किरणें सीधी पड़ती है. इसके चलते तापमान बढ़ जाता है. ज्योतिष मानते हैं कि यदि नौतपा के सभी नौ दिन पूरे तपे तो यह अच्छी बारिश की संभावना पैदा करते हैं.

loading…