मुजफ्फरनगर में स्कूल खुलने से पहले ही प्रधानाचार्यों को दिए गए ये निर्देश


मुज़फ्फरनगर। लाला जगदीश प्रसाद सरस्वती विद्या मन्दिर इण्टर कॉलेज मुज़फ्फरनगर में आयोजित बैठक में मुख्य विकास अधिकारी आलोक यादव ने कहा कि सभी प्रधानाचार्य विद्यालय परिसर में और उसके आसपास के क्षेत्र में साफ सफाई व स्वच्छता का विशेष ध्यान रखते हुए पठन पाठन सुवव्यस्थित रूप में कराए, विद्यालय में एक स्वस्थ व भयमुक्त वातावरण बच्चों को दे। अभिभावकों से मिलकर ऐसे कार्य करे जिससे बच्चों की भावनात्मक सुरक्षा सुनिश्चित हो।
सयुंक्त शिक्षा निदेशक सहारनपुर आर पी शर्मा ने कहा कि प्रधानाचार्य अपने विद्यालय में अभिभावक की अनुमति प्राप्त करने के बाद ही छात्र छात्राओं को प्रवेश दे , प्रत्येक बालक , अध्यापक व कर्मचारी की थर्मल स्केनिंग कराए, किसी भी परिस्थिति में गेट पर टॉयलेट आदि स्थानों पर बच्चे एकत्र ना हो । जिला विद्यालय निरीक्षक महोदय गजेन्द्र कुमार द्वारा उपस्थित सभी प्रधानाचार्यो को बालिका सुरक्षा शपथ दिलाई गई,उन्होंने कहा कि मिशन शक्ति कार्यक्रम का उद्देश्य बालिकाओं को सिर्फ शिक्षित बनाना ही नही बल्कि उनको आत्मनिर्भर बनाना व रोजगार के अवसर उपलब्ध कराना भी है । उन्होंने पठन पाठन पुनः आरम्भ करने को ले कर शासन के निर्देशों से सभी को अवगत कराया। उन्होंने बताया कि सभी माध्यमिक विद्यलयों का निरीक्षण कर लिया गया है ।प्रधानाचार्य डॉ विकास कुमार ने नई शिक्षा नीति चर्चा करते हुए कहा कि शासन द्वारा डिजिटल अन्तर को कम करने के लिए विद्यालयों में डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित किया जाएगा।प्रबंधक देवेंद्र कुमार गर्ग ने सभी अथितियों का आभार व्यक्त किया । कार्यक्रम की अध्यक्षता मुख्य विकास अधिकारी आलोक यादव व संचालन डॉ विकास कुमार ने किया ।प्रधानाचार्य सतीश उपाध्याय, शिव कुमार यादव , विजय शर्मा,जितेंद्र वर्मा, राकेश कुमार, विनीत चौहान आदि उपस्थित रहे

ये भी पढेंः खबरें हटके

big news

loading…