बागपत में सूर्यग्रहण के बाद यमुना में स्नान करने गए पति-पत्नी की डूबने से मौत

बागपत। बागपत में रविवार को साल के सबसे लंबे सूर्यग्रहण का प्रकोप कम करने के लिए सुल्तानपुर हटाना गांव के निकट यमुना नदी में नहाने गए दंपति की डूब जाने से मौत हो गई। महिला गर्भवती थी, स्नान करते समय गहरे पानी में चले जाने के कारण वह डूबने लगी तो पति उसे बचाने की कोशिश में डूब गया। स्थानीय गोताखोरों ने करीब पांच घंटे की मशक्कत के बाद दंपति के शव को यमुना से निकाला। बिना पोस्टमार्टम कराए दोनों का अंतिम संस्कार कर दिया गया।
सुल्तानपुर हटाना गांव निवासी सचिन उर्फ जोनी कश्यप (23) पुत्र अशोक कश्यप अपनी पत्नी मोनी कश्यप (22) के साथ सोमवार को गांव से कुछ ही दूर बह रही यमुना में स्नान करने गया था। गांव के कुछ लोग भी किनारे पर मौजूद थे। मोनी नहाते हुए गहरे पानी में चली गई। उसे डूबते देख सचिन भी गहरे पानी की तरफ चला गया। किनारे पर खड़े लोगों ने मदद के लिए शोर मचाना शुरू किया, लेकिन तब तक दंपति यमुना में डूब चुका था। गांव में हादसे की जानकारी मिलते ही ग्रामीण मौके पर पहुंचे। स्थानीय गोताखोर बुलाए गए। ग्राम प्रधान रविंद्र कुमार और बड़ौत कोतवाली प्रभारी अजय शर्मा मौके पर पहुंचे। करीब पांच घंटे की मशक्कत के बाद स्थानीय गोताखोरों ने दंपति के शवों को बाहर निकाला। परिजनों ने बिना पुलिस कार्रवाई के ही गमगीन माहौल में अंतिम संस्कार कर दिया। हादसे के बाद पूरे गांव में गम का माहौल है।

loading…