शामली में कोरोना मरीज मिलने के बाद शिवचौक पर रास्ते सील, पुलिस की कडी कार्यवाही


शामली। शहर के शिव चौक निवासी महिला के कोरोना पॉजेटिव मिलने के बाद रविवार को शिव चौक के आधे रास्ते को पूरी तरह से सील कर दिया गया। हॉट स्पॉट बनाए गए क्षेत्र में पुलिसकर्मियों की डयूटी लागई गई। इस दौरान किसी को भी उक्त स्थानों पर प्रवेश नही दिया गया। दूसरे रास्ते से ही सभी वाहनों को निकाला गया।
जिले में लगातार कोरोना मरीजों की संख्य बढती जा रही है। शहर की विभिन्न गलियों तथा बस्तियों से निकलकर कोरोना शहर के मुख्य बाजारों तथा कालोनियों की ओर रूख कर चुका है। जिसके चलते शहर के मौहल्ला दयानंदनगर, विवेक विहार तथा शिव को हॉट स्पॉट बनाकर पूरी तरह से सील किया गया है। गत दिवस शहर के शिव चौक पर बर्तन व्यापारी की पत्नी कोरोना पॉजेटिव मिलने के बाद शिव चौक के एक रास्ते को पूरी तरह से सील कर दिया गया। इस दौरान एक रास्ते को खोला गया है, जबकि दूसरे रास्ते पर बैरिकेटिंग करते हुए पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया। इस दौरान किसी को भी उक्त रास्ते से आने जाने की इजाजत नही दी गई, जबकि वाहनों को भी एक ही रास्ते से निकाला जा रहा है। शिव चौक पर मौजूद दर्जनों दुकानों को भी बंद करा दिया गया है और स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा कोरोना पॉजेटिव महिला के सम्पर्क में आने वाले लोगों तथा महिलाओं की जांच की जा रही है।

शामली पर मंडरा रहे कोरोना के काले बादल, लोग बेपरवाह, पुलिस ने काटे चालान

शामली। जिले में लगाकार कोरोना मरीजों की संख्या बढती जा रही है। शहर में अभी भी तीन मौहल्लों को हॉट स्पॉट भी किया गया है, लेकिन बावजूद इसके रविवार को भी शहर में विभिन्न स्थानों पर दुकानों को खोली गया। यही नही शहर के विभिन्न चौराहों पर लगी ठेलियां पर लोग चाट, पकौडी तथा खस्ता समोचे का आंनद लेते भी नजर आये। जहां पुलिस कार्यवाही नही कर पाई है।
कोरोना संक्रमण को फैलने से बचाव को जिला प्रशासन द्वारा जहां सवेरे 9 बजे से शाम 5 बजे तक दुकानों को खोले जाने की अनुमति प्रदान की गई है। वही रविवार को जिलाधिकारी जसजीत कौर के आदेश पर रविवार को दवा, दूध तथा फल सब्जी की दुकानों को छोडकर शहर को पूरी तरह से बंद करने के निर्देश दिए हुए है। लेकिन रविवार को शहर के पुलिस की शिथिलता के चलते दर्जनों दुकानों को खोला गया। दुकानों के बाहर दुकानदार बैठे रहे और ग्राहकों को दुकान के अंदर भेजकर सामान की खरीदारी की गई। यही नही शहर के नेहरू मार्किट में कनफैक्शनरी की दुकानों में अंदर दर्जनों ग्राहक एक साथ घुसे रहे, जहां सोशल डिस्टेसिंग का प्रयोग न किए जाने का संक्रमण बीमारी फैलने का खतरा बना था। दुकानदार जान की प्रवाह किए बिना ही दुकानों के अंदर भीड एकत्रित कर ग्राहकों की जिंदगी भी खतरे में डाल रहे है। इसके अलावा शहर के अजोध्या चौक, माजरा रोड, टंकी रोड, नवीन मंडी आदि में खस्ता कचोरी की ठेलियां भी लगी रही, जहां सवेरे पहुंचकर लोगों ने ठेलियों पर खडे होकर खस्ता कचोरी कर जमकर आंनद लिया। यही नही शहर के मुख्य चौराहों पर पुलिस डयूटी न होने से लोग दिनभर सडकों पर घूमते रहे और कोई रोकने टोकने वाला नही मिल सका। लोगों का कहना है कि यदि बाजारों में पुलिस की सख्ती नही होगी तो शामली शहर में भी दूसरे जनपदों की तरह कोरोना संक्रमण फैल सकता है। जिसके लिए जिला प्रशासन को प्रधानमंत्री के आदेशों का पालन करना चाहिए।
कोरोना संक्रमण को फैलने से बचाव को रविवार को बाजार, दुकान सभी बंद रहे। शहर के विजय चौक पर तैनात पुलिसकर्मियों द्वारा वाहन चेकिंग अभियान चलाया गया, जिसमें लोग अकारण तथा बिना मास्क के आने वाले वाहन चालकों के चलान काटे गए। रविवार को शहर कोतवाली पुलिस ने शहर के विजय चौक पर वाहन चेकिंग अभियान चलाया गया। इस दौरान रविवार की बंदी के कारण भी बाजारों में अकारण आने वाले लोगों के चलान काटे गए, जबकि बिना मास्क के आने वाले लोगों से जुर्माना वसूला गया। पुलिस कर्मियों ने दुपहिया वाहन चालकों को कोरोना वायरस के प्रति जागरूक भी किया, जिसमें उन्होने दुपहिया वाहनों पर एक से अधिक सवारी न बैठाये जाने तथा सोशल डिस्टेसिंग का पालन करने का आहवान किया। शह कोतवाली पुलिस ने शहर के विभिन्न चौराहों पर दुपहिया वाहन चालकों के चलान काटे, जिससे वाहन चालकों में हडकंप मचा रहा।

loading…