शामली में आवास योजनाओं के नाम पर ठगी करती महिलाओं सहित चार गिरफ्तार


शामली। आदर्शमंडी थाना क्षेत्र के गांव कसेरवा कलां में प्रधानमंत्री आवास विकास योजना के फार्म भरने के नाम पर लोगों से अवैध वसूली कर रहे दो महिला व दो पुरूष को ग्राम प्रधान से ग्रामीणों की मदद से पकडकर पुलिस के हवाले कर दिया। पकडे गए ठगों के पास से ग्रामीणों की आईडी तथा हजारों की नकदी भी बरामद की गई।
गत मंगलवार देर रात्रि आदर्शमंडी थाना क्षेत्र के गांव कसरेवा कलां में एक महिला तथा पुरूष बाईक पर सवार होकर ग्रामीणों के पास पहुंचा। जहां उन्होने खुद को सरकारी मुलाजिम बताकर ग्रामीणों को बहला फुसला लिया और प्रधानमंत्री आवास विकास योजना के फार्म भरने शुरू कर दिया। इसी दौरान गांव के ही यशपाल पुत्र भगत द्वारा मामले की सूचना प्रधानपति नितिन कुमार पुत्र जगपाल सिंह को दी गई। सूचना पर पहुंचे प्रधान पति ने मामले की जानकारी की तो दोनों फर्जी निकले। इस दौरान प्रधानपति ने महिला तथा पुरूषों को गांव में ही बैठा लिया और आदर्शमंडी पुलिस के हवाले कर दिया। पकडी गई महिला ने अपना नाम मिथलेश पत्नी सुरेन्द्र निवासी कुडाना तथा पुरूष ने सन्नी पुत्र सतपाल निवासी सिसौली बताया है। प्रधान पति ने पुलिस को तहरीर देकर बताया कि गांव से लगभग 34 लोगों से मकान बनाने के नाम पर लिए गए आईडी कार्ड तथा लगभग 45 हजार रूपये की नकदी इकत्रित की हुई है। मौके से दोनों के पास से 5 हजार की नकदी तथा 20 आईडी कार्ड बरामद हुए है। इसके अलावा एक महिला और एक पुरूष और ग्रामीणों से अवैध वसूली करते हुए पकडे गए है। प्रधान पति ने मामले में जांच कर कार्यवाही किए जाने की मांग की है।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर विस्तार से चर्चा
शामली। शहर के श्री सत्यनारायण इंटर कालेज में चल रही नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर तीन दिवसीय कार्यशाला में राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 पर विस्तार से प्रकाश डाला गया।
कार्यशाला को संबोधित करते हुए प्रधानाचार्य अमित मलिक ने कहा कि कोरोना काल होने के कारण इस कार्यक्रम को तीन दिवसों में कराया जा रहा है, जिससे कि भीड न हो। उन्होने इस बात पर जोर दिया कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 का विद्यालयों के माध्यम से छात्रों व अभिभावकों ने इसका अधिक से अधिक प्रचार व प्रसार हो सके। उन्होने कन्या सुमंगला योजना का लाभ अधिक से अधिक छात्राओं तक पहुंचाये जाने के लिए अभिभावकों को जागरूक करने पर बल दिया। अनिल शर्मा ने कहा कि नई शिक्षा नीति के लागू होने से छात्रों में परीक्षा की टेंशन नही होगी। छात्र परीक्षा को देगे लेकिन अब परीक्षा इस ढंग से होगी कि छात्र उससे डरने की बजाये उसमें उत्साह पूर्वक भाग लेगे। डा. रूचिता ढाका ने कहा कि नई शिक्षा नीति में कला व खेल के शिक्षण पर भी विशेष ध्यान दिया जायेगा, जिससे एक ओर छात्र अपनी संस्कृति से परिचित होगे तो दूसरी ओर शारीरिक रूप से स्वस्थ्य भी रहेगे। मौके पर चौधरी मान सिंह राजकीय इंटर कालेज कंडैला के प्रधानाचार्य डा. अमित मलिक, श्री जैन कन्या इंटर कालेज शामली की प्रधानाचार्य रूचिता ढाका, सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कालेज से आनंद प्रसाद, वैदिक इंटर कालेज कुरमाली के प्रधानाचार्य जिया उल हक, जनता इंटर कालेज बाबरी के प्रधानाचार्य प्रदीप कुमार, मुरली मनोहर इंटर कालेज इस्सोपुर टील के प्रधानाचार्य रमेशचंद्रा का सहयोग रहा। मौके पर प्रधानाचार्य अनिल शर्मा, घनश्याम शर्मा, अंजलि जैन, अश्वनी कुमार, छवि शर्मा, ज्योति तायल, लक्ष्मी गर्ग, मनोज कुमार शर्मा, सोनिया सिंघल, महेश नारायण गौड, साकेत निर्वाल आदि मज्ञैजूद रहे।

Trending Posts

loading…