मुजफ्फरनगर में भाकियू के धरने पर किसान ने छिडका मिट्टी का तेल हंगामा, युवक की लाश मिलने से हडकंप


मुजफ्फरनगर। भारतीय किसान यूनियन के सैंकड़ों कार्यकर्ताओं ने बुढाना तहसील परिसर में धरना देकर केंद्र व प्रदेश सरकार को जमकर निशाना साधा। इस दौरान उपजिलाधिकारी द्वारा प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री को बारह सूत्रीय मांगो का ज्ञापन देकर समस्या के निस्तारण की मांग की है।
भारतीय किसान यूनियन के निगरानी समिति के सदस्य आशाराम की के नेतृत्व में मंगलवार के दिन तहसील परिसर में एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया गया। जिसका संचालन विकाश त्यागी ने किया। धरना प्रदर्शन में कहा गया की आज प्रदेश का किसान नकदी के भारी संकट से गुजर रहा है। जिसका प्रभाव खरीफ की बुवाई पर पड़ रहा है। कोविड- 19 के चलते लोकडाउन के कारण किसानों को भारी नुक्सान हुआ है। जिसकी भरपाई के लिए सरकार द्वारा कोई भी सीधी सहायता किसान को नहीं मिली है। प्रदेश‌ सरकार द्वारा लगाई गया डीजल व पैट्रोल पर भारी टैक्स भी किसानों की कमर तोड दी है। प्रदेश में पुलिस उत्पीड़न भी चरम सीमा पर है। किसानों के सभी तरह के पिछले एक साल तकपर के कर्जे माफ किए जायें। किसानों का गन्ना भुगतान ब्याज सहित अविलंब कराया जाये। प्रदेश में कृषि रक्षा केंद्रों पर कृषि राशन‌ उपलब्ध कराये जायें। इस दौरान उपजिलाधिकारी कुमार भूपेन्द्र व बिजली विभाग एसडीओ धुर्व चन्द जैसवाल किसानो के बीच पहुचे। वहा किसानो ने अपनी मांगो का एक ज्ञापन प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के नाम उपजिलाधिकारी को को दिया है।
भारतीय किसान यूनियन के धरने पर मौजूद प्रशासनिक अधिकारियों में उस समय हड़कंप मच गया जब गांव जैतपुर गढ़ी का रहने वाला किसान ब्रजपाल पुत्र मुंशी बालियान ने बैंककर्मियों से आहत होकर अपने ऊपर पैट्रोल छिड़क लिया। इससे पहले किसान अपनी जेब से माचिस निकालकर आग लगाता तब धरने पर मौजूद अन्य किसानों ने पैट्रोल से तर-बतर कार्यकर्ता को अपने घेरे में लेते हुए माचिस छीन ली। थोड़ी देर बाद मौके पर बुढ़ाना कस्बा इंचार्ज जयवीर सिंह व सब इंस्पेक्टर वीर नारायण सिंह भी दल बल सहित धरने पर आये। यहां पर आक्रोशित वृद्ध को भाकियू कार्यकर्ताओं ने समझा बुझाकर शांत किया। किसान ने बताया की उसकी पुत्रवधु सोनिया पत्नि अंकुर ने भारत सरकार की कल्याणी योजना के तहत बुढ़ाना के पंजाब नेशनल बैंक में आवेदन किया था। हमने बैंक के सैंकड़ों चक्कर काटे लेकिन हमें योजना का एक रुपया भी आज तक नही मिला। अभी कुछ दिन पहले हमें नोटिस मिला कि बैंक से जो रुपया योजना के तहत लिया गया है वह अदा करो जबकि हमें एक रुपया भी नही मिला। जिस पर एसडीएम कुमार भूपेंद्र ने किसान  को आश्वासत किया और फर्जी तरीके से रकम हड़पने वालों के खिलाफ कडी कार्रवाई का आश्वासन दिया। इस दौरान भाकियू के बिजेंद्र राठी,विपिन  बालियान, ओमपाल मलिक, नीटू, संजीव पवार जितेंद्र मलिक तिजारत प्रधान आदि मौजूद रहे

ईंख के खेत में मिली युवक की लाश

बुढ़ाना। कोतवाली क्षेत्र में नवयुवक का शव मिलने से क्षेत्र में सनसनी फ़ैल गई। इस मामले में शव की शिनाख्त नहीं हो पाई थी। मिली जानकारी के मुताबिक आज मंगलवार के दिन बुढ़ाना कोतवाली क्षेत्र के गांव बिगाना के जंगल में ईंख के खेत में एक शव मिला। शव को खेतों पर काम कर रहे किसानों ने देखा तो गांव प्रधान को सूचना दी। उन्होंने बुढ़ाना पुलिस को ईंख के खेत में शव पड़े होने की सूचना दी। तब सूचना मिलते ही पुलिस में हड़कंप मच गया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव की शिनाख्त कराने का प्रयास किया लेकिन शव की शिनाख्त नहीं हो पाई। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस के अनुसार किसी ने शव को यहां लाकर फैंक दिया। शव मिलने पर गांव के आसपास के किसानों में दहशत फ़ैल गई।

loading…