बेटी बचाओ बेटी पढाओ एवं मिशन शक्ति अभियान के अंतर्गत कार्यक्रम का आयोजन


मुजफ्फरनगर। बेटी बचाओ बेटी पढाओ एवं मिशन शक्ति अभियान के अंतर्गत एवं अन्तर्राष्ट्रीय बाल अधिकार दिवस को जनपद के विद्यालयों में शक्ति संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
बच्चों एवं किशोरां-किशोरियों की सुरक्षा एवं मानसिक स्वास्थ्य एवं मनोसामाजिक आवश्यकताओं, मुददों तथा सपोर्ट प्रणाली पर जनपद के विधालयो में भौतिक ’’शक्ति संवाद’’ कार्यक्रम का आयोजन हुआ। कार्यक्रम के अंतर्गत बच्चों एवं किशोरों में होने वाले मानसिक एवं भावनात्मक परिवर्तनों के बारे में उनमें स्वयं, उनके माता-पिता एवं परिवार और समुदाय के बीच अधिकारियों के माध्यम से सीधे संवाद स्थापित किया गया तथा उन्हे जागरूक किया गया। मानसिक समस्याओं जैसे-चिंता, तनाव, अवसाद के लक्षणों को पहचानना, उनके व्यवहारिक, शारीरिक, भावनात्मक इत्यादि संकेतो के बारे में उन्हें अवगत कराया गया। जनपद में मानसिक स्वास्थ्य सेवाओं की आवश्यकता एवं उपलब्धता पर प्रकाश डाला गया।
शक्ति संवाद कार्यक्रम के अंतर्गत एक मेगा इवेन्ट का आयोजन भोकरहेडी स्थित इण्टर कॉलेज में किया गया। इण्टर कॉलेज में आयोजित कार्यक्रम में 200 से अधिक छात्रध्छात्राओं द्वारा प्रतिभाग किया गया। कार्यक्रम में जिला विधालय निरीक्षक गजेन्द्र कुमार, जिला प्रोबेशन अधिकारी मौहम्मद मुशफेकीन, मनोवैज्ञानिक समृद्वि त्यागी, मनोचिकित्सक डा. मनोज कुमार, निदेशक चाइल्ड लाइन पूनम शर्मा, प्राधानाचार्य विपिन चैधरी, संरक्षण अधिकारी श्रीमती नीना त्यागी एवं विधालय स्टॉफ उपस्थित रहे। डा. मनोज कुमार, मनोचिकित्सक द्वारा छात्र-छात्राओं को अवसाद, चिंता, तनाव जैसी बीमारियों के विषय में विस्तारपूर्वक जानकारी दी गयी तथा छात्रध्छात्राओं से विभिन्न प्रकार से संवाद स्थापित करते हुए उनकी जिज्ञासाओं को शान्त किया। बच्चों को मानसिक रूप से स्वास्थ्य रहने हेतु विभिन्न प्रकार के टिप्स दिये गये। बच्चों ने भी मानसिक स्वास्थ्य संबंधी अनेक प्रश्न पूछे। सुश्री समृद्वि त्यागी द्वारा छात्र-छात्राओं को अध्ययन के लिए एकाग्रता हेतु मेडिटेशन पर विशेष जोर देने के लिए प्रेरित किया गया और छात्र-छात्राओं से अपनी बात रखने हेतु अपने अध्यापक या प्राधानाचार्य या अपने माता-पिता से विचार करने हेतु कहा गया। उन्होंने छात्र-छात्राओं को उनके कैरियर के विषय में पूर्ण जानकारी दी, जिसमें छात्रध्छात्राओं ने उनसे कैरियर संबंधी प्रश्न पूछे गये, जिनका उनके द्वारा निदान किया गया। जिला विधालय निरीक्षक द्वारा बेटियों को विशष रूप से शिक्षा एवं उनके आहार पर ध्यान देने के लिए कहा गया, उन्होने बेटियां को अपने परिवार का हिस्सा मानते हुए अपनी समस्या रखने हेतु कहा गया, जिला विद्यालय निरीक्षक ने जो छात्र-छात्राऐं अपनी बात खुले रूप से नही कह सकती उनके लिए प्राधानाचार्य को सुझाव पेटिका लगाने हेतु निर्देशित किया गया। इस अवसर पर जिला प्रोबेशन अधिकारी द्वारा विद्यालय के छात्रध्छात्राओं को सुरक्षा संबंधी हेल्पलाइन नम्बरों, यौन हिंसा, किशोर न्याय अधिनियम, 2015 इत्यादि के विषय में विस्तारपूर्वक जानकारी दी गयी।
अन्तर्राष्ट्रीय बाल अधिकार दिवस के अवसर पर जिला विद्यालय निरीक्षक द्वारा इण्टर कॉलेज भौकरहेडी में काउंसलिंग सेन्टर का शुभारम्भ करने के निर्देश दिये तथा जनपद के समस्त माध्यमिक विधायलयों में बच्चों की काउंसलिंग हेतु काउंसलिंग सेन्टर स्थापित करने के निर्देश भी निर्गत किये गये। काउंसलिंग सेन्टर के द्वारा विद्यालय के छात्रध्छात्राओं की नियमित काउंसलिंग की जायेगी, जिससे बच्चे मानसिक रूप से स्वस्थ रह सकें। कार्यक्रम में विधालय के एनसीसी कैडेट के द्वारा विभिन्न प्रकार के सास्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किये गये। सभी उपस्थितजनों को बालिका सुरक्षा की शपथ दिलायी गयी। विद्यालय के होनहार बालको को चाइल्ड लाइन मुजफ्फरनगर द्वारा मैडल देकर सम्मानित किया गया। विद्यालय के कक्षा-7 के छात्र शाहनवाज जो विभिन्न प्रकार के नवाचार के लिए इन्सपायर अवार्ड के लिए भी नामित किया गया है, को भी सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का समापन राष्ट्रगान के साथ किया गया। कार्यक्रम का आयोजन महिला कल्याण विभाग, मुजफ्फरनगर के द्वारा विधालय के सहयोग से किया गया। 25 नवंबर को कलक्ट्रेट स्थित जिला पंचायत सभागार में ’’हक की बात जिलाधिकारी के साथ’’ कार्यक्रम का आयोजन होगा, जिसमें जनपद के समस्त छात्र-छात्राऐं व बालिकाऐं फेसबुक-यूटयूब-टवीटर के माध्यम से ऑनलाइन प्रतिभाग कर सकते हैं तथा अपने प्रश्नो का उत्तर पा सकते है।

ये भी पढेंः खबरें हटके

big news

loading…


Trending Posts