मुजफ्फरनगर में जिला बार संघ चुनाव से 4 दावेदार मैदान से बहार


मुजफ्फरनगर। जनपद में लम्बे विवाद और आरोप प्रत्यारोप के दौर के बीच अब जिला बार संघ की नवीन कार्यकारिणी के चुनाव के लिए तस्वीर साफ हो गयी है। इस बार कोरोना संकट काल के कारण सात महीने की देरी से हो रहे कार्यकारिणी चुनाव में चतुष्कोणीय मुकाबला तय हुआ है। आज नाम वापसी के दौरान चार प्रत्याशियों ने अपनी दावेदारी वापस ले ली है। इनमें अध्यक्ष और महासचिव पद के एक एक प्रत्याशी भी शामिल हैं। इसके साथ ही मैदान में उतरे प्रत्याशियों ने अपने पैनल के साथ कहचरी में चुनाव प्रचार भी प्रारम्भ कर दिया है। अब मतदान के दिन पर नजर है।
लंबी कानूनी लड़ाई के बाद जिला बार संघ में नई कार्यकारिणी के लिए चुनाव का रास्ता साफ हुआ। विवाद के साथ ही कोरोना काल के संकट के कारण जिला बार संघ की कार्यकारिणी का चुनाव करीब सात माह की देरी के बाद अब 25 नवम्बर को होने जा रहा है। इसके लिए मैदान में उतरे प्रत्याशियों के नामांकन पत्रों की जांच के बाद चुनाव की तस्वीर साफ हो चुकी है। मुख्य चुनाव अधिकारी आनंद प्रकाश त्यागी ने बताया कि जिला बार संघ कार्यकारिणी के चुनाव के लिए शुक्रवार के नामांकन प्रक्रिया के दौरान अध्यक्ष पद के लिए अनिल जिंदल, कलीराम, प्रमोद त्यागी, राजेश्वर दत्त त्यागी और रणवीर सिंह ने पर्चे दाखिल किए, तो वरिष्ठ उपाध्यक्ष के लिए देवेंद्र कुमार कैल, लक्ष्मी नारायण शर्मा, रफी उल्लाह खां और योगेंद्र कुमार सहरावत, उपाध्यक्ष (10 वर्ष) के दो पदों के लिए देवेंद्र सिंह राठी, धर्म सिंह, राधेश्याम त्यागी, राजेश कुमारी, संतोष और सुक्रमपाल सिंह, उपाध्यक्ष (8 वर्ष) के दो पदों के लिए अमित कुमार सैनी, आरिफ राणा, मौहम्मद अथहर, नगेंद्र सिंह तोमर, राहुल शर्मा, शिराज हुसैन रिजवी ने नामांकन दाखिल किए थे। महासचिव पद के लिए पांच नामांकन हुए थे। इनमें अरुण कुमार शर्मा, चंद्रपाल सिंह सिरोही, गुलबीर सिंह वर्मा, इनाम इलाही त्यागी और संजीव कुमार ने पर्चें दाखिल थे। सहसचिव के तीन पदों के लिए 11 प्रत्याशी मैदान में आये थे, इनमें अब्दुल हक, मौ. मोहतसिब (सनी), मौ. मोहतसिब, पंकज कुमार ग्रेड, पंकज गौतम, पंकज कुमार शर्मा, रामधन सिंह, रोहित गुप्ता, सय्यद नुसरत अब्बास, सोनिया संगल और उदयवीर सिंह ने नामांकन किया। कोषाध्यक्ष के एक पद के लिए तीन प्रत्याशी आशुतोष शर्मा, पवन कुमार राणा और रेणु शर्मा ने दावेदारी जताई है। वरिष्ठ सदस्य (15 वर्ष से अधिक) के छह पदों के लिए अखिलेश जिंदल, जय कुमार नायडू, मनोज कुमार शर्मा, नरेंद्र कुमार मित्तल, नेपाल सिंह, प्रज्ञा गर्ग, सुदेश कुमार और योगराज सिंह ने पर्चे दाखिल किये थे। सामान्य सदस्य (15 वर्ष से कम) के छह पदों के लिए 16 अधिवक्ताओं ने नामांकन दाखिल थे। शनिवार को इन नामांकन पत्रों के लिए नाम वापसी की प्रक्रिया दोपहर 12 बजे तक पूर्ण की गयी और इसके बाद नामांकन पत्रों की जांच का कार्य पूर्ण किया गया है।
उन्होंने बताया कि शनिवार को नाम वापसी के दौरान चार दावेदारों ने अपने पर्चे वापस लिये हैं, इनमें अध्यक्ष पद पर रणवीर सिंह, महासचिव पद से संजीव कुमार, सह सचिव पद से मौ. माहतसिब और सामान्य सदस्य 15 वर्ष से कम पद के लिए प्रविन्द्र कुमार ने अपने नामांकन पत्र वापस ले लिये हैं। अब अध्यक्ष पद पर चार प्रत्याशियों अनिल जिंदल, प्रमोद त्यागी, कलीराम और राजेश्वर दत्त त्यागी के पैनल के बीच मुकाबला है। मतदान 25 नवम्बर को कियाय जायेगा। 26 नवम्बर को प्रातः आठ बजे से मतगणना होगी। नामांकन वापसी के दौरान एल्डर कमेटी के चेयरमैन अब्दुल रऊफ एडवोकेट, सदस्य सुरेंद्र शर्मा, मुख्य चुनाव अधिकारी आनंद प्रकाश त्यागी, सहायक चुनाव अधिकारी सोपाल सिंह, केडी त्यागी, आजम शमसी, गोपाल माहेश्वरी, सतेंद्र पुंडीर कपिल कुमार, और राजेश शर्मा मौजूद रहे।

कोरोना वैक्सीन की उम्मीद, पर सावधानी जरूरी
मुजफ्फरनगर। कोरोना वायरस संक्रमण की दोबारा दस्तक की संभावना को देखते हुए जनपद में कोरोना संक्रमण को थामने के तमाम उपाय किये जा रहे हैं। सीएमओ डा. प्रवीण चोपडा ने कहा कि जनपद में वैक्सीन स्टोर तैयार किया जा रहा है, वैक्सीन जल्द ही आने की उम्मीद है, लेकिन इस उम्मीद के सहारे हम लापरवाही नहीं बरत सकते। उन्होंने लोगों से कोरोना से बचने के लिए सावधानी के साथ गाइडलाइन का पालन करने की अपील की। इस अवसर पर उन्होंने बताया कि आज स्वास्थ्य विभाग की ओर से जनपद में परिवार नियोजन के प्रति लोगों को प्रेरित करने के लिए पुरुष नसबंदी पखवाडा कार्यक्रम का शुभारम्भ किया है।

शनिवार को अपने कार्यालय में मीडिया कार्यशाला के दौरान सीएमओ डा. प्रवीण कुमार चोपडा ने बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए वैक्सीनेशन की व्यवस्था की तैयारी कराई जा रही है। जनपद में भी कोरोना वायरस संक्रमण की वैक्सीन के रख रखाव के लिए स्टोर का निर्माण कराया जा रहा है। शासन से निर्देश मिले हैं कि 15 दिसम्बर तक हर हाल में यह स्टोर तैयार करा लिया जाये। उन्होंने बताया कि इस स्टोर से 10 से ज्यादा वैक्सीन कैरियर रखने की व्यवस्था रहेगी। उन्होंने बताया कि दिसम्बर के अंत तक वैक्सीन आने की उम्मीद है, लेकिन उम्मीद पर ही हमें कायम नहीं रहना है, इसमें देरी भी हो सकती है अभी कुछ भी सुनिश्चित नहीं है। उन्होंने कहा कि आज दुनिया के साथ ही भारत में भी कोरोना वायरस संक्रमण दोबारा घातक स्तर तक पहुंच रहा है। जनपद भी आने वाले दिनों में कई चुनौतियों का सामना कर सकता है। ऐसे में हमें पूरी सावधानी बरतनी होगी। मास्क, सोशल डिस्टेंस और खासकर बच्चों व बुजुर्गों को घरों से बाहर निकलने से रोकना होगा। हम सावधानी से ही कोरोना से बचाव में सफल हो सकते हैं।
इस अवसर पर सीएमओ डा. प्रवीण चोपडा ने बताया कि जनसंख्या नियंत्रण में पुरुषों की भागीदारी को सुनिश्चित करने के लिए आज से जनपद में पुरुष नसबंदी पखवाडा कार्यक्रम प्रारम्भ किया गया है। यह 4 दिसम्बर तक चलाया जायेगा। उन्होंने बताया कि जनसंख्या स्थिरता एवं प्रजनन स्वास्थ्य में सुधार लाने के लिए पुरुषों की सहभागिता बेहद महत्वपूर्ण है। परिवार नियोजन के दायित्व में पुरुषों की भागीदारी बढ़ाने के उद्देश्य से यह अभियान शुरू किया गया है। इस दौरान आंगनबाडी कार्यकत्रियों, आशाओं और अन्य स्वास्थ्य कर्मियों के माध्यम से शहर से गांव तक जागरुकता कार्यक्रम आयोजित होंगे। उन्होंने बताया कि नसबंदी कराने वाले पुरुषों को सरकार की ओर से 3 हजार रुपये प्रतिपूर्ति राशि दी जा रही है। इसके साथ ही महिलाओं को डिलीवरी के तुरंत बाद नसबंदी कराने पर 3 हजार और अंतराल पर नसबंदी कराने के लिए 2 हजार रुपये की राशि प्रतिपूर्ति के रूप में दी जाती है। कार्यक्रम के नोडल अधिकारी एसीएमओ डा. राजीव निगम ने बताया कि कोविड 19 के दौर में भी जनसंख्या स्थिरता के लिए पुरुषों को नसबंदी कराने के लिए प्रोत्साहित किया जायेगा। यह पखवाडा दो चरणों में मनाया जायेगा। 21 से 27 नवम्बर तक दम्पति सम्पर्क अभियान चलेगा।
सीएमओ डा. प्रवीण चोपडा ने बताया कि 14 से 21 नवम्बर तक नवजात शिशु देखभाल सप्ताह अभियान चलाया गया। इसमें आंगनबाडी और आशा कार्यकत्रियों द्वारा घर घर जाकर नवजात शिशुओं की देखभाल के लिए माताओं व अन्य लोगों को जागरुक किया गया। उनको टीकाकरण कराने की जानकारी दी गयी और कंगारू मदर केयर पर जोर दिया गया। इसके साथ ही सरकार ने हर महीने 21 तारीख को खुशहाल परिवार दिवस मनाने का निर्णय लिया है। जनपद में आज पहला खुशहाल परिवार दिवस मनाया जा रहा है। इसमें परिवारों से सम्पर्क करते हुए उनको परिवार नियोजन के प्रति प्रोत्साहित करने के साथ ही परिवार का टीकाकरण, दो बच्चों तक परिवार सीमित करने आदि के बारे में जागरुक किया जायेगा। इसके लिए महिला चिकित्सालय में भी डिस्पले किया गया।

ये भी पढेंः खबरें हटके

big news

loading…


Trending Posts