श्रीराम कॉलेज द्वारा नेशनल वेबिनार का आयोजन

मुजफ्फरनगर। श्रीराम कॉलेज में बेसिक साइंस व कम्प्यूटर एप्लीकेशन संकाय के द्वारा संयुक्त रूप से आज ‘ऑनलाईन टीचिंग एण्ड इवेल्यूऐशन डयूरिंग लॉकडाउन-प्रॉब्लमस एंड सोल्यूशन्स’ विषय पर नेशनल वेबिनार का आयोजन किया गया। वेबिनार में मुख्य वक्ता के रूप डा0 विकेश कुमार, निदेशक एकेलोन इंस्टिटयूट आफ टैक्निलॉजी फरीदाबाद हरियाणा, डा0 दीपांकर शर्मा, अपर निदेशक, डा0 के0एन0 मोदी इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टैक्नोलॉजी, मोदीनगर, डॉ0 राजीव रंजन, एसोसिएट प्रोफेसर, स्कूल ऑफ मैनेजमेंट, एम एम यूनिवर्सिटी, मुलाना, हरियाणा एवं डॉ0 श्वेतांक आर्य, सहायक प्रोफेसर, कम्प्यूटर एप्लीकेशन संकाय, गुरूकूल कांगडी विश्वविद्यालय, उत्तराखण्ड रहें। इस वेबिनार में कई राज्यों के लगभग 150 शिक्षकों ने प्रतिभाग किया।
डा0 विनीत कुमार शर्मा, डीन एकेडमिक्स श्रीराम कॉलेज ने प्रतिभागियो का स्वागत किया। डा0 आदित्य गौतम निदेशक श्रीराम कॉलेज ने मुख्य अतिथियों एवं वक्ताओं का सभी से परिचय कराया। जूम ऐप्लीकेशन द्वारा संचालित इस राष्ट्रीय वेबिनार को तीन सत्रो में विभाजित किया गया। प्रथम सत्र प्रातः 11ः00 बजे आरम्भ हुआ। प्रथम सत्र के मुख्यवक्ता डा0 श्वेतांक आर्य एवं डॉ0 राजीव रंजन ने सभी प्रतिभागियों को सम्बोधित करते हुये बताया कि आने वाले समय में वेबटेक्नोलॉजी पर आधारित एप्लीकेशनस तैयार करने में पेशेवरो की अधिक आवश्यकता होगी, क्योकि कोविड-19 के बाद सभी संस्थान विंडो एप्लीकेशन्स के बजाय वेब एप्लीकेशन्स का प्रयोग करने के लिये आगे आयेंगे। जिससे वर्क एट होम जैसी सुविधायें कर्मचारियों को देकर इंटरनेट के माध्यम से कार्य सुचारू रूप से सम्पन्न कराया जा सके। उन्होने अध्यापाकां को ऑनलाईन टीचिंग प्लेटफार्म के लिए प्रशिक्षण देने की आवश्यकता पर भी बल दिया और बताया कि ऑनलाइन कक्षा में विद्यार्थियों की संख्या को भी सीमित किया जाये जिससे विद्यार्थी एवं शिक्षक के बची में संवाद सुचारू रूप से बना रहे एवं छात्रों द्वारा पूछे गये प्रश्नों का शिक्षक उचित समय में उत्तर दे सकें। उन्होने इसके लिए मेसेचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टैक्नोलॉजी का उदाहरण दिया जहॉ शिक्षक 4-5 विद्यार्थियों को ही एक समय में पढाता हैं।
दूसरा सत्र प्रातः 11ः40 बजें शुरू हुआ जिसमें डॉ0 विकेश कमार एवं डॉ0 दीपांकर शर्मा ने अनेक उपलब्ध ऑनलाईन प्लेटफाम जैसे जूम, गूगल क्लासरूम, वेबसरस, यूटयूब चैनल, गूगल मीट तथा कौरसेस आदि का उल्लेख किया और बताया कि कैसे इन पर उपलब्ध मूक्स का उपयोग कर विद्यार्थी अध्ययन कर सकता है व कई प्रकार के सर्टिफिकेट व उपाधि ले सकता है। मूल्यांकन के संदर्भ में बताते हुए उन्होने कहा कि गूगल फार्म, व्हाट्सएप जैसे माध्यमों से शिक्षक विद्यार्थी के कार्य का मूल्यांकन कर सकता है। इसमें गूगल क्लासरूम जैसे ऐप का भी सदुपयोग किया जा सकता है। छात्र-छात्राओं के संतोष को परखने के लिए ऑनलाईन के अनेक माध्यमों से फीडबैक प्राप्त किया जा सकता है।
तीसरा सत्र अपरान्हन 12ः20 बजे से शुरू हुआ जिसमें विभिन्न प्रतिभागियों ने वक्ताओं के साथ अपनी शंकाओं के बारे में प्रश्न पूछें । मुख्य वक्ताओं ने प्रतिभागियों के प्रश्नो का उत्तर दिया और बताया कि अधिक जानकारी के लिये कोई भी प्रतिभागी किसी भी समय उनसे सम्पर्क कर सकता है।
श्रीराम कॉलेज के निदेशक डॉ0 आदित्य गौतम ने वेबिनार के सफल आयोजन पर हर्ष व्यक्त करते हुए श्रीराम ग्रुप ऑफ कॉलिजेज के चेयरमेन डॉ0 एस0सी0 कुलश्रेष्ठ का धन्यवाद किया जिनके संरक्षण, अनुमति व मार्गदर्शन से इस राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन होना संभव हो सका। कार्यक्रम का संचालन प्रोफेसर नीतू सिंह कम्प्यूटर एप्लीकेशन एवं डा0 मनोज मित्तल बेसिक साइंस विभाग द्वारा जूम पर किया गया तथा उन्होने सुगम तरीके से प्रतिभागियों को प्रश्न पूछने व अपनी बात रखने के लिये अवसर दिये। प्रोफेसर निशांत राठी डीन कम्प्यूटर संकाय ने धन्यवाद ज्ञापित करते हुए सभी अतिथियों का आभार व्यक्त किया। बेसिक साइंस विभाग की विभागाध्यक्षा डॉ0 पूजा तोमर ने भी सभी अतिथियों का आभार व्यक्त किया। इस वेबिनार के आयोजन को सफल बनाने में बेसिक साइंस विभाग एवं कम्प्यूटर एप्लीकेशन संकाय के सभी शिक्षकों का सहयोग रहा।

loading…