शामली में हनुमान प्रतिमा खंडित करने पर हंगामा, तनाव, फोर्स तैनात

शामली। गढीपुख्ता क्षेत्र के गांव ताना स्थित श्री शिव मंदिर में लगी भगवान हनुमान की मूर्ति को कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा क्षतिग्रस्त करते हुए खंडित कर दिया गया। सवेरे मंदिर के पुजारी ने मूर्ति टूटी देखी तो खबर गांव में आग की तरह फैल गई। सूचना पर सैकडों ग्रामीण मौके पर एकत्रित हो गए। सूचना पर सीओ थानाभवन पुलिस फोर्स को साथ लेकर मौके पर पहुंचे और टूटी मूर्ति को वहां से हटाया गया। मंदिर के प्रधान ने पुलिस को तहरीर देकर मामले में जांच कर कार्यवाही किए जाने की मांग की है। ग्रामीणों में तनाव व्याप्त होने के कारण गांव में पुलिस फोर्स को तैनात किया गया है।
गढीपुख्ता थाना क्षेत्र के गांव स्थित श्री शिव मंदिर में पवनपुत्र हनुमान की मूर्ति स्थित है। मंगलवार सवेरे करीब 4 बजे मंदिर का पुजारी अमन गिरी पूजा अर्चना के लिए उठा तो उसने देखा कि हनुमान की मूर्ति क्षतिग्रस्त अवस्था में जमीन पर पडी है। जिसको देख उसके होश उड गए और उसने मामले की सूचना ग्रामीणों को दी। मूर्ति टूटी होने की सूचना गांव में आग की तरह फैल गई। सूचना पाकर ग्रामीणों में रोष फैल गया और सैकडों की संख्या में ग्रामीण मंदिर परिसर में जमा हो गए। मूर्ति टूटने और ग्रामीणों द्वारा हंगामा करने की सूचना पाकर सीओ थानाभवन गढीपुख्ता पुलिस फोर्स को लेकर मौके पर पहुंचे और हंगामा कर रहे ग्रामीणों को समझा बुझाकर शांत किया। पुलिसकर्मियों ने अनन फानन में क्षतिग्रस्त पडी मूर्ति को हटाया और देर शाम में दूसरी मूर्ति स्थापित कराये जाने का आश्वासन दिया। मंदिर के पुजारी अमन गिरी ने बताया कि वह रात्रि 9 बजे मंदिर के कमरे में सो गया था, इससे पूर्व मंदिर में मूर्ति सुरक्षित थी, लेकिन सवेरे उठा तो मूर्ति टूटी हुई पडी थी। मंगलवार को हनुमान जी की पूजा अर्चना होने से मंदिर में श्रद्धालुओं का आना जाना होता है और मंदिर की मूर्ति टूटने से ग्रामीणो में रोष पनप रहा है। जिसको देखते हुए सुरक्षा की दृष्टि से गांव में पुलिस फोर्स को तैनात किया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
ग्राम प्रधान सुधीर कुमार ने बताया कि कुछ असामाजिक तत्व सांप्रदायिक माहौल खराब करना चाहते है। गांव में कोई भी व्यक्ति ऐसा नही है जो मूर्ति को तोड सके। दूसरे समुदाय के लोग भी मजदूर और दिहाडी मजदूर है। यह कार्य किसी शराबी किस्म के व्यक्ति है, जिसके खिलाफ पुलिस को जांच कर कार्यवाही करनी चाहिए।

loading…