शामली में सब्जी मंडी में खुली दुकानें पर कोरोना के डर से ग्राहक गायब

शामली। कोरोना पॉजेटिव सब्जी आडती के सम्पर्क में आये सब्जी दुकानदारों के संक्रमण की जांच करने के बाद बुधवार को कुछ सब्जी की दुकानों को खोला गया, लेकिन कोरोना महामारी का भय होने के कारण उक्त सब्जी दुकानदार दिनभर खाली बैठे नजर आये।
कोरोना महामारी का भय लोगों में लगातार बना हुआ है। जिले में दो सब्जी व एक फल आडती की रिपोर्ट कोरोना पॉजेटिव आने के बाद सब्जी खरीदने वाले लोगों में भी भय का माहौल पैदा हो गया है। दसअसल शामली के मंडी गेट पर सरदार सब्जी वाला कोरोना पॉजेटिव सब्जी आडती के सम्पर्क में था, जिसके बाद उसकी दुकान को बंद कराते हुए जांच कराई गई, लेकिन उसकी रिपोर्ट में वह संक्रमण नही पाया गया, जिसके बाद बुधवार को सब्जी व फल की दुकाने खोली गई। लेकिन लोगों में भय इतना था कि उसकी दुकान पर कोई ग्राहक नही पहुंचा, जबकि उसके सामने स्थित सब्जी की दुकान पर लोगों की भीड लगी रही।

शामली में दिनभर सडकों पर दौड रहे वाहन, पुलिस पडी सुस्त

शामली। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस को फैलने से बचाव को जनपद में लगाए गए लॉक डाउन में पुलिस की शिथिलता के चलते दिनभर सडकों पर वाहन दौडते नजर आते है। बाजारों में जहां सोशल डिस्टेसिंग का उल्लंघन किया जा रहा है वही शहर के विभिन्न गलियों मौहल्लों में लॉक डाउन सिर्फ नाम मात्र के लिए रह गया है। जिससे संक्रमण बीमारी के फैलने का खतरा बना हुआ है।
वैश्विक महामारी कोरोना वायरस को देश में फैलने से बचाव को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लॉक डाउन की समय अविध को बढाया है। प्रधामनंत्री देश की जनता के लिए काफी संवेदनशील नजर आ रहे है। वही प्रदेश के मुख्यमंत्री ने भी लॉक डाउन के नियमों का सख्ती के साथ पालन कराये जाने के निर्देश दिए है, लेकिन उसके बावजूद जिले की सडकों पर दिनभर वाहन चालक दौडते नजर आ जाते है। लॉक डाउन में दोपहर 12 बजे तक छूट दी गई है। जिसमें सिर्फ जरूरतों का सामान खरीदा जा सकता है। लेकिन लोग सवेरे ही अपने वाहनों से निकल जाते है और दिनभर सडकों पर दौडते भी देखा जा सकता है। मुख्य चौराहों पर तैनात पुलिसकर्मी उक्त वाहन चालकों से कोई रोका रोटी नही करते है। यही कारण है कि बाजारों में भी लगातार सोशल डिस्टेसिंग का उल्लंघन किया जा रहा है। जिले के आला अधिकारियों को बाजारों में लगातार भीड होने की सूचनाऐं मिल रही है। यही कारण है कि डीएम एसपी को स्वयं रात दिन शहर की सडकों पर घूमना पड रहा है। शहर की गलियों व मौहल्लों की बात करते तो लॉक डाउन सिर्फ नाम मात्र का ही रह गया है। कुछ लोगों ने स्वयं बैरिकेटिंग करते हुए पुलिस के गश्त पर रोक लगा दी है और गलियों में बैठकर क्रिकेट, गेम सहित टोलिया लगाकर बैठा जा रहा है। शहर के मौहल्ला कलंदरशाह में भी रोजा इफ्तारी के समय सडकों पर भीड को देखा जा सकता है। सडकों पर दर्जनों ठेली लगाकर सोशल डिस्टेसिंग का उल्लंघन करना भी आम बात हो गई है। लेकिन गश्त करने वाली पुलिस कार्यवाही करने में नाकाम है।

नवीन मंडी को किया गया सेनेटाईज

शामली। शहर के नवीन मंडी में सब्जी आडतियों के कोरोना पॉजेटिव मिलने के बाद फायर बिग्रेड की टीम ने शहर के नवीन मंडी पहुंचकर मंडी परिसर को सैनेटाईज किया है। दर्जनों दमकल कर्मचारियों ने दो फायर बिग्रेड गाडियों के साथ समुचे प्रांगन सहित मजदूरों के कमरों को भी सैनेटाईज किया है।
जनपद में वैसे तो प्रत्येक कस्बे व हॉट स्पॉट सैन्टरों को समय समय पर सैनेटाईज किया जा रहा है। शहर के नवीन मंडी में दो सब्जी व एक फल आडती के कोरोना पॉजेटिव पाये जाने के बाद सब्जी खरीदने वाले दुकानदार, आडती तथा मजदूरों के आवाजावी बनी हुई है। जिसके चलते संक्रमण फैलने की आशंका भी बनी हुई है। बुधवार को फायर बिग्रेड के दर्जनों कर्मचारियों द्वारा सबसे पहले सब्जी मंडी को सैनेटाईज किया जिसके बाद मजदूरों के बने आवासों, लॉन, फुटपाथ, के साथ साथ फर्श व शौचालयों को भी सैनेटाईज किया गया। आने जाने वाले रास्ते सहित कर्मचारियों के बैठने के लिए बनाए गए भवन को भी सैनेटाईज किया गया। सीओ दमकल दीपक शर्मा ने बताया कि पूरे मंडी परिसर को सैनेटाईज किया जा रहा है। इससे पूर्व हॉट स्पॉट किए गए स्थानों को सैनेटाईज किया जा चुका है। अलगे चरण में मंडी आडतियों के सम्पर्क में आने वाले मौहल्लों को भी सैनेटाईज किया जायेगा।

loading…