शामली में चप्पे-चप्पे पर पुलिस फोर्स तैनात, सैंकडों वाहनों के चालान मचा हडकंप

शामली। लॉक डाउन-4 में जिले में रात्रि 7 बजे से सवेरे 7 बजे तक पूर्ण रूप से आवाजाही बंद कर दी गई है। जिसके लिए देर रात्रि में जिले के चप्पे चप्पे पर पुलिस फोर्स तैनात रही और सडकों पर घूमने वाले लोगों को हिरासत में लेते हुए सैकडों वाहनों के चलान काटे गए। उन्होने लोगों से लॉक डाउन के नियमों का पालन करने का आहवान किया है।
जिले में लगातार कोरोना मरीजों की संख्या बढती जा रही है। जिसके बाद अब शामली जिले को भी अति संवेदनशील घोषित कर दिया गया है। जिसके बाद शासन के आदेश पर जिले में रात्रि 7 बजे से सवेरे 7 बजे तक का कर्फ्यू घोषित कर दिया गया। कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए कर्फ्यू का सख्ती के साथ पालन कराये जाने के लिए जिले भर की सडकों पर देर रात्रि में पुलिस फोर्स तैनात रहा। पुलिस अधीक्षक विनीत जयसवाल के आदेश पर पुलिस ने सघन अभियान चलाया। इस दौरान सडकों पर गुजरने वाले लोगों की जमकर खबर ली गई और कई लोगों को अकारण सडकों पर घूमने के आरोप में हिरासत में लिया गया, जबकि सैकडों वाहन चालकों के चलान काटे गए। इस दौरान पुलिसकर्मियों ने कहा कि जो लॉक डाउन का उल्लंघन करने की किसी को भी इजाजत नही है, लेकिन कई कई बार लोगों को जागरूक करने के बावजूद भी लोग अकारण सडकों पर घूम रहे है, जिसके खिलाफ कडी कार्यवाही की जायेगी। उन्होने सभी से घरों में रहने की अपील की है।

डीएम ने दिया सम्मान पत्र

शामली। लॉक डाउन में लगातार जरूरतमंदों को सहायता कर रहे डा. रीतिनाथ शुक्ला व डा. नीलम शुक्ला को जिलाधिकारी ने सम्मान पत्र देकर सम्मानित किया गया। जिलाधिकारी ने उनके द्वारा कोविड-19 के काल में राष्ट्रहित में किए गए कार्यो की सराहना करते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की है।
मां सावित्री देवी हॉस्पिटल के मुख्य संचालक डा. रीतिनाथ शुक्ला व डा. नीलम शुक्ला द्वारा कोविड-19 में संक्रमण की पहचान, रोकथाम, नियंत्रण के लिए लॉक डाउन के अवधि में लगातार कार्य किए जा रहे है। इस दौरान उनके द्वारा लगातार जरूरतमंदों को भोजन, राशन किट, तथा निशुल्क दवाईया उपलब्ध कराई जा रही है। सेवाभाव से लगातार लोगों की मदद जैसे सराहनीय और उत्कृष्ट कार्य को देखते हुए जिलाधिकारी जसजीत कौर द्वारा उनको सम्मान पत्र देकर सम्मानित किया गया। जिसमें जिलाधिकारी ने कहा कि शामली की विभिन्न बस्तियों, कुष्ठरोग आश्रम, रामगढ गांव में आपदा सामग्री जैसे राशन किट, मास्क, दवाईया आदि का वितरण एवं सफाई कर्मियों, पुलिसकर्मियों को हेल्थकिट का वितरण, जनपद वासियों को टेलीमेडिसिन की निशुल्क सुविधा, प्रवासी कामगारों के स्वास्थ्य परीक्षण, सेवा व विभिन्न गांवों में मास्क वितरण कार्यक्रम में सक्रिय सहभागिता निभाने जैसे सराहनीय कार्य किए गए है, जिसके लिए डा. रीतिनाथ शुक्ला व डा. नीलम शुक्ला प्रशंसा के पात्र है। उन्होने उनके उज्जवल भविष्य की कामना की है।

loading…