शामली में खुली मिठाई, मोबाईल सहित ये दुकानें तो देखें कैसा था नजारा

शामली। कोरोना महामारी से निपटने के लिए जारी लॉक डाउन में हॉट स्पॉट क्षेत्रों को छोडकर अन्य क्षेत्रों में दी गई रियायतों के चलते बाजारों में जिला प्रशासन द्वारा बनाए गए शैडयूल के अनुसार गुरूवार को मोबाईल, हाडवेयर, सैनेटरी, लोहा, इलेक्ट्रिक व इलैक्ट्रोनिक, ऑटो मोबाईल, प्रिंटिंग प्रेस, चश्मे, फर्नीचर तथा ऑटोपार्टस की दुकानों को खोला गया।
कोरोना वायरस के संक्रमण को देश में महामारी घोषित किया गया है। जिसको रोकने के लिए 18 से 31 मई तक देश व्यापी लॉक डाउन-4 घोषित कर दिया गया। जिले में मौहल्ला पंसारियान, बडी माता मंदिर रोड, बडीआल जाटान एवं सलेक विहार में कोरोना पॉजेटिव केस मिलने से हॉट स्पॉट करते हुए पूरी तरह से सील कर दिया गया है। उक्त स्थानों पर केवल चिकित्सकीय आपातकालीन स्थिति में अवश्यक वस्तुओं और सेवाओं की आपूर्ति में लगे लोगों को छोडकर किसी भी अंदर आने जाने की अनुमति नही है। कोरोना डाउन-4 में जिले में डीएम के आदेश पर कुछ दुकानों को खोलने की छूट दी गई है। गुरूवार को बाजारों में विभिन्न दुकाने शेडयूल के अनुसार खोली गई। जिसमें शैडयूल के अनुसार गुरूवार को मोबाईल, हाडवेयर, सैनेटरी, लोहा, इलेक्ट्रिक व इलैक्ट्रोनिक, ऑटो मोबाईल, प्रिंटिंग प्रेस, चश्मे, फर्नीचर तथा ऑटोपार्टस की दुकानों को खोला गया। बाजारों में दूसरे दिन दुकाने खोली गई तो लोगों की भीड रही। सवेरे 7 बजे से दोपहर 12 बजे तक लॉक डाउन में दी गई छूट के दौरान बाजारों में अधिकतर दुकानों को खोला गया। इस दौरान पुलिस फोर्स लगातार गश्त करती रही और लोगों से सोशल डिस्टेसिंग का पालन किए जाने का भी आहवान किया गया।

कम वेतनमान दिए जाने का आरोप

शामली। विद्युत विभाग में कार्यरत आउटसोर्सिंग संविदा कर्मियों ने सहायक श्रमआयुक्त को पत्र भेजकर विभाग के ठेकेदारों पर न्यनतम मासिक वेतन से कम वेतनमान दिए जाने का आरोप लगाते हुए मामले में जांच कर कार्यवाही किए जाने की मांग की है।
गुरूवार को विद्युत विभाग में कार्यरत आउटसोर्सिंग संविदा कर्मी अब्दुल आसिक ने सहायक श्रमआयुक्त को पत्र भेजा। जिसमें उन्होने कहा कि विद्युत विभाग में कार्यरत संविदा कर्मियों को ठेकेदारें द्वारा श्रम विभाग के शासनादेश के अनुसार न्यूनतम मासिक वेतन से कम वेतनमान दिया जा रहा है। जिसमें कुशल श्रमिक को 7500 तथा अकुशल श्रमिक को 6200 रूपये मासिक वेतन दिया जा रहा है। कई बार विभागीय अधिकारियों को शिकायत की गई, लेकिन मामले में कोई कार्यवाही नही की गई। आरोप है कि संविदा कर्मियों द्वारा पूरे वेतन की मांग की जाती है तो वह आर्थिक व मानसिक शोषण पर उतारू हो जाते है। उन्होने मामले में जांच कर न्यूनतम वेतनमान दिलाये जाने की मांग की है।

मजदूरों की सहायता के लिए खादय सामग्री का वितरण

शामली। भारतीय जैन संगठना तथा शहर के वीवी पीजी कालेज की राष्ट्रीय सेवा योजना ईकाई द्वारा दूसरे राज्यों पैदल चलकर आ रहे प्रवासी मजदूरों की सहायता के लिए खादय सामग्री का वितरण किया गया।
गुरूवार को भारतीय जैन संगठना व शहर के वीवी पीजी कालेज की राष्ट्रीय सेवा योजना ईकाई द्वारा लगातार छटे दिन शहर के मेपल्स एकेडमी व गांव सिक्का एसएन देव कालेज में पहुंचकर वहा पर ठहरे प्रवासी मजदूरों को खादय सामग्री का वितरण किया। कार्यक्रम अधिकारी डा. भूपेन्द्र कुमार ने बताया कि संस्था द्वारा लगातार प्रवासी मजदूरों को भोजन वितरित किया जा रहा है ताकि उनको किसी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पडे। गुरूवार को भी प्रवासी मजदूरों को बिस्कुट, नमकीन, मटठा, चप्पल, पानी आदि का वितरण किया गया। मौके पर पश्चिमी उत्तर प्रदेश अध्यक्ष मोहित जैन ललित जैन, पंकज जैन, विकास जैन, राहुल जैन, विनय जैन आदि मौजूद रहे।

loading…