यूपी में पुलिस की बर्बरता हुई कैद, महिलाओं को गालियां देकर जड़े थप्पड़

मुरादाबाद। उत्तर प्रदेश के जनपद मुरादाबाद में सीसीटीवी कैमरे में पुलिस की बर्बरता का एक मामला कैद हुआ है. पुलिसकर्मियों ने महिलाओं को जोर-जोर से थप्पड़ मारे और फिर उन्हें जमीन पर पटक दिया. इसके अलावा एक युवक की जमकर पिटाई की गई और उसके कपड़े तक फाड़ दिए गए. जब युवक ने पिटाई से बचने के लिए भागने की कोशिश की तो पुलिसकर्मियों ने उसे पकड़ लिया और जमकर पीटा फिर थाने ले गई. मौके पर मौजूद कुछ लोगों ने इस घटना का वीडियो बनाकर वायरल कर दिया और पास में लगे सीसीटीवी कैमरे में यह घटना कैद हो गई.

पुलिस का कहना है कि चेकिंग के दौरान यह युवक बिना मास्क लगाए घूम रहा था. जब इसे बुलाया गाया और पूछताछ की गई तो युवक ने पुलिसकर्मियों के साथ बदसलूकी की और मामला बढ़ गया फिर पुलिसकर्मियों ने इसकी जमकर पिटाई शुरू कर दी, सीसीटीवी और कैमरे में कैद हुई तस्वीरों और वीडियो को देखकर ऐसा लग रहा है कि पुलिसवाले किसी खतरनाक अपराधी को पकड़कर पीट रहे हों. इस दौरान युवक ने अपने आप को बचाने के लिए भागने की कोशिश की और वो नीचे गिर गया और सब इंस्पेक्टर ने गोली मारने के अंदाज में सरकारी पिस्टल निकाल ली.

भाई को पुलिसवालों से पिटता देख युवक की मां और बहन ने उसे बचाने की कोशिश की. इस पर पुलिस वालों ने दोनों को थप्पड़ मारे और जमीन पर गिरा दिया. इस दौरान सूचना पर थाना कटघर के कोतवाल गजेंद्र सिंह भी मौके पर पहुंच गए और बिना मास्क लगाए युवक की तलाश में युवक के घर पहुंचे. उसी समय पिस्टल तानने वाले सब इंस्पेक्टर ने वहां खड़ी महिलाओं के कई थप्पड़ मारे. यह सारा मामला पास में लगे सीसीटीवी में कैद हो गया.

पुलिस वालों का जबरन घर में घुसने युवक और महिलाओं से मारपीट करने का वीडियो वायरल होने के बाद मुरादाबाद के पुलिस अधीक्षक नगर अमित आनंद ने सोशल मीडिया के माध्यम से अपना एक बयान जारी कर पुलिस वालों का बचाव किया, एसपी सिटी ने कहा कि चेकिंग के दौरान पुलिसकर्मियों से अभद्रता की गई. इसके थोड़ी देर बाद पुलिस की दबंगई का वीडियो वायरल हो गया और पूरी हकीकत सबके सामने आ गई. पुलिस वालों की गलती सामने आने के बाद एसपी सिटी इस मामले में मीडिया के सामने आने से बच रहे हैं और जांच की बात कर रहे हैं.

पीड़ित महिला का कहना है कि उनका भाई नमाज पढ़कर आ रहा था. लेकिन उसने मास्क नहीं लगा रखा था. इस बात पर पुलिस वाले उस पर ऐसे टूटे जैसे उनसे कोई बड़ा अपराध कर दिया हो. पहले बीच सड़क कई पुलिसवालों ने उसके भाई को जमकर पीटा. अपने आप को बचाने के लिए वो घर के अंदर घुसा और पीछे पीछे उसे मारने के लिए पुलिस वाले भी घर के अंदर घुसे और गाली गलौच करने लगे. इस पर मेरी मां और मैंने उनसे बात करने की कोशिश की. लेकिन पुलिस कर्मियों ने उन्हें गंदी गंदी गालियां दीं और पिस्तौल दिखाकर थप्पड़ मारे. हम चाहते हैं, हमारे साथ इंसाफ हो और आरोपी पुलिसवालों के खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाएगा.