मोहब्बत का खौफनाक अंतः पिता ने बेटी और प्रेमी को गोली मारकर उतारा मौत के घाट, उसके बाद…

गाजीपुर. उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले में सोमवार को घायल मिले पुलिसकर्मी की इलाज के दौरान मौत हो जाने के मामले में नया मोड़ आया है। पुलिसकर्मी अमेठी जिले के थाने में तैनात था। दो साल पहले उसने अपने पड़ोस के गांव की ही युवती से कोर्ट मैरिज की थी। सोमवार की सुबह युवती के परिजनों ने पुलिसकर्मी को फोनकर घर पर बुलाया था।

इसके बाद दोनों की गोली मारकर हत्या कर दी। युवती के शव को घर के पास खेत में दफन कर दिया। जबकि पुलिसकर्मी को घायल अवस्था में रामपुर गांव के सिवान में छोड़कर चले गए थे।

पुलिस टीम ने मृतक पुलिसकर्मी के स्मार्ट फोन से छानबीन के बाद खेत में दफन किए गए युवती के शव को भी बरामद कर लिया। साथ ही हत्यारोपी पिता को हिरासत में लेकर छानबीन शुरू कर दी।
पुलिस के अनुसार, गाजीपुर जिले के खानपुर थाना क्षेत्र के बभनौली गांव निवासी पुलिसकर्मी अजय यादव की अमेठी के गौरीगंज थाने पर तैनाती थी। अजय का अपने गांव के पड़ोस के ही गांव की युवती से कई वर्षों से प्रेम-संबंध चल रहा था। दोनों ने वर्ष 2018 में कोर्ट मैरिज कर ली थी।

सोमवार की सुबह में साढ़े तीन बजे युवती के मोबाइल नंबर से अजय यादव को फोन करके पुलिस कर्मी को बुलाया गया था। फोन खुद लड़की ने किया था। पुलिसकर्मी अजय यादव युवती के घर पहुंचा। इसके बाद हत्यारे पिता राजेश सिंह ने घर वालों की मदद से पहले अपनी पुत्री को गोली मार कर मौत के घाट उतार दिया।

फिर अजय यादव की कनपटी पर एक गोली दाग दी। गोली आरपार हो गई। घायल अजय को अंधेरे में ही लगभग दो किलोमीटर दूर ले जाकर रामपुर गांव के सामने फेंक आए।

एसपी सिटी गोपीनाथ सोनी ने बताया कि पुलिसकर्मी एवं युवती ने दो साल पहले कोर्ट मैरिज कर ली थी। सुबह में पिता ने युवती के फोन से पुलिसकर्मी को घर बुलाया। इसके बाद हत्यारोपी पिता ने पहले पुत्री को गोली मारकर हत्या करके शव ठिकाने लगा दिया। इसके बाद अजय को कनपटी में गोली मारकर रामपुर गांव के सामने फेंक दिया था। आरोपी को पकड़कर छानबीन की जारी है।

ये भी पढेंः खबरें हटके

big news