मुजफ्फरनगर नगरपालिका में सभासद के इस्तीफे से छिडी जंग, चेयरमैन ने दिया ये जवाब…

मुज़फ्फरनगर। नगरपालिका परिषद के वार्ड संख्या 23 के सभासद प्रवीण मित्तल पीटर द्वारा आज अपने पद से इस्तीफा देने के ऐलान के बाद चेयरमैन अंजू अग्रवाल ने भी पलटवार किया है।
नगर पालिका परिषद के वार्ड संख्या 23 से सभासद प्रवीण मित्तल पीटर ने आज जिलाधिकारी के नाम पत्र लिखकर अपने पद से त्यागपत्र देने का ऐलान किया था। पत्र में नगरपालिका चेयरमैन पर दूषित राजनीति करने का आरोप लगाया गया था। वार्ड 23 के सभासद प्रवीण मित्तल द्वारा जिलाधिकारी को अपना सभासद पद से त्यागपत्र देते हुए स्वीकृति का आग्रह किये जाने पर पालिकाध्यक्ष अंजू अग्रवाल ने तीखी प्रतिक्रिया दी है।उन्होनें कहा की इस पत्र में कुछ मिथ्या आरोप लगाए गए हैं। इस संबंध में मेरा मानना है की भारत के सुंदर संविधान में प्रत्येक नागरिक को नियमों के अधीन किसी भी निर्वाचन को लड़ने का अधिकार प्रदत है तथा निर्वाचन में जीत दर्ज करने के पश्चात अपने नियत कर्तव्य का पालन करना भी हर जनप्रतिनिधि का दायित्व है और उसे जन भावनाओं के अनुसार गरिमामय ढंग से कार्य करना चाहिए। जहां तक प्रवीण मित्तल द्वारा अपना सभासद पद से त्यागपत्र देने का प्रश्न है यह वार्ड 23 की जनता के साथ बहुत बड़ा धोखा है। पदीय दायित्वों में असक्षम होने की स्थिति में ही इसी प्रकार के मनोभाव का उदभव होता है। मैं तो इस स्थिति को अपने कर्तव्य से विमुख होना ही मानती हूं। एक पुरानी कहावत है कि जब किसी को घर में नहीं रहना होता तो वह छत में सांप बताते हैं। नगरीय सम्मानित जनता सब जानती है कि कौन कितने पानी में है। मेरे ऊपर लगाए गए आरोप पूर्णतया असत्य एवं निराधार हैं, जिनमें कोई सच्चाई नहीं है। बड़े ही दुर्भाग्य की बात है कि प्रवीण मित्तल द्वारा मुझे दूरभाष पर धमकी भरे स्वर में कहां गया कि मैंने इस्तीफा दे दिया है, तुम भी आज ही इस्तीफा दो तथा मेरे सामने वार्ड 23 में आकर चुनाव लड़ लेना। इस प्रकार की स्थिति शोभनीय नहीं है। मुझे नगर की सम्मानित जनता ने अध्यक्ष पद पर निर्वाचित किया है और मैं अपनी यथाशक्ति से निष्ठा और ईमानदारी के साथ अपने पदीय कर्तव्य का पालन कर रही हूं और जब तक की जिम्मेदारी परमात्मा की कृपा से सम्मानित जनता से मिली हुई है तब तक जनहित में कार्य करती रहूंगी।

loading…