कोरोना से बचने के लिए फॉलो करें यह किचन टिप्स, मिलेंगे कमाल के फायदे

देश में कोरोनावायरस की दूसरी लहर हर दिन खतरनाक होती जा रही है। इसमें संक्रमण के लक्षण पहले से अलग हैं और पहले के मुकाबले यह ज्यादा तेजी से फैल रहा है। सरकार और डॉक्टर्स बार-बार लोगों को सावधानी बरतने को कह रहे हैं। लेकिन लगातार बढ़ते मामालों को देखते हुए हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सलाह दी है कि कोविड-19 की दूसरी लहर से लडऩे के लिए सही पोषण और हाइड्रेशन बहुत जरूरी है।

संतुलित आहार लेने वाले लोगों की प्रतिरक्षा प्रणाली स्ट्रांग होती है और उन्हें संक्रमक रोगों का जोखिम कम होता है। कोविड को हराना है, तो हर व्यक्ति को विटामिन, मिनरल, फाइबर, प्रोटीन और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर खाद्य पदार्थ खाने होंगे। संगठन ने कहा है कि वर्तमान स्थिति को देखते हुए लोगों को भोजन के उन विशिष्ट प्रकार के बारे में जरूर पता होना चाहिए, जो कोविड-19 का मुकाबला करने के लिए हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बना सकते हैं। तो चलिए आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताते हैं कि कोविड-19 का सामना करने के लिए संगठन ने आहार और जीवनशैली से जुड़े क्या दिशा-निर्देश दिए हैं।

जरूरत से ज्यादा नमक का सेवन करने वाले लोग जल्दी बीमार पड़ते हैं। ऐसे में इस वक्त नमक का सेवन दिन में 5 ग्राम तक सीमित करें तो बेहतर होगा। डाइट में अनसैचुरेटिड फैट शामिल करें। यह एवेकैडो, मछली, जैतून का तेल, कैनोला, फैटी मांस, नारियल, पनीर घी और क्रीम में पाए जाते है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने लोगों को हर दिन 8-10 गिलास पानी पीने के लिए कहा है। इससे शरीर में पानी की कमी नहीं होगी और शरीर का तापमान भी नियंत्रित रहेगा। वहीं ड्रिंक्स में चीनी के सेवन से जितना बच सकते हैं बचें। खासतौर से पैक्ड फलों और सब्जियों का इस्तेमाल करते समय लेबल पर चीनी और नमक की मात्रा जरूर पढ़ लें।

कोविड-19 से बचने के लिए हर व्यक्ति को स्वस्थ जीवनशैली का पालन करना चाहिए। व्यायाम, ध्यान और पर्याप्त नींद इम्यून सिस्टम को मजबूती देगा। लोगों के संपर्क में आने से बचने के लिए घर पर खाएं और संक्रमण को कम करने की कोशिश करें।

नॉन-वेज खाद्य पदार्थ आपको स्ट्रांग बनाएंगे। दी गई गाइडलाइन के अनुसार, लाल मांस सप्ताह में एक या दो बार खाया जा सकता है। वहीं मछली, अंडे और दूध के साथ 160 ग्राम मांस और बीन्स से प्राप्त खाद्य पदार्थों का उपयोग करना चाहिए।

WHO ने वायरस से लडने में साबुत अनाज और मेवे को पॉवरफुल बताया है। संगठन ने कहा है कि व्यक्ति 180 ग्राम अनाज जैसे मक्का, जई,गेहूं, बाजारा, , ब्राउन राइस या आलू खाए तो वह संक्रमण से बचा रहेगा। वहीं अपने आहार में फल और सब्जियों के अलावा बादाम, नारियल , पिस्ता जैसे नट्स को शामिल करने का सुझाव दिया है।

​कोविड-19 की दूसरी लहर बेहद डरावनी है। इससे बचने के लिए जितने पोषक तत्व खा सकते हैं खूब खाएं। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने निर्देश दिए हैं कि संक्रमण से दूर रहना है, तो अमरूद, सेब, केला, रूट्रॉबैरी, अंगूर, अनानास, पपीता, नारंगी, प्यूमेला, लोंगमैन जैसे फलों को दो कप के सर्विंग साइज के साथ खाएं।

वहीं बात अगर सब्जियों की हो, तो हरी बेल मिर्च, लहसुन, अदरक, केल, धनिया, हरी मिर्च, ब्रोकोली, फली 5 सर्विंग्स के साथ खानी चाहिए। स्नैक्स के शौकीनों को चीनी, नमक और वसा में उच्च खाद्य पदार्थ की बजाय ताजे फल और कच्ची सब्जियों का सेवन ज्यादा करना चाहिए। यह इम्यूनिटी में सुधार के लिए बहुत फायदेमंद हैं।

संक्रमण से बचने के लिए फॉलों करें किचन टिप्स।
खाने से पहले फल और सब्जियों को पानी से धो लें। उपयोग करने से पहले और बाद में हर वस्तु और सतह को धोने की आदत डालें। पक्के और कच्चे खाद्य पदार्थों को हमेशा अलग रखें।

पके और कच्चे खाद्य पदार्थों को काटने के लिए अलग-अलग चॉपिंग बोर्ड और बर्तनों का इस्तेमाल करें।

बहुत गर्म भोजन सर्व न करें।
सब्जियों को ओवरकुक न करें। इन्हें ज्यादा पकाने से इसमें मौजूद विटामिन और मिनरल जैसे पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं।