एमपी में विरोध प्रदर्शन करना पड़ा भारी, कांग्रेस-भाजपा विधायकों के खिलाफ FIR दर्ज

भोपाल. राजधानी भोपाल के सबसे व्यस्ततम एमपी नगर बोर्ड ऑफिस चौराहे पर प्रदर्शन करना बीजेपी और कांग्रेस विधायक को भारी पड़ गया. इस चौराहे पर किसी भी तरीके के विरोध प्रदर्शन करने की अनुमति नहीं है. प्रशासन से दोनों पार्टी के नेताओं ने कोई अनुमति नहीं ली और वहां पर विरोध प्रदर्शन किया. पुलिस ने सरकारी आदेशों का उल्लंघन करने पर बीजेपी विधायक कृष्णा गौर, कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद और बीजेपी जिला अध्यक्ष सुमित पचौरी सहित दोनों दलों के कई कार्यकर्ताओं के खिलाफ FIR दर्ज की है.


दोनों FIR एमपी नगर थाने में दर्ज हुई हैं. थाना प्रभारी सूर्यकांत अवस्थी ने बताया कि एमपी नगर बोर्ड ऑफिस चौराहे पर किसी भी तरीके का धरना प्रदर्शन आंदोलन करने की अनुमति नहीं है. इसके बावजूद शासकीय आदेशों का उल्लंघन किया गया. पुलिस ने धारा 188 के तहत एफआईआर दर्ज की है.
पूर्व मंत्री जीतू पटवारी के विवादित ट्वीट के विरोध में गोविंदपुरा से बीजेपी विधायक कृष्णा गौर के नेतृत्व में एमपी नगर बोर्ड ऑफिस चौराहे पर जीतू पटवारी का पुतला फूंका गया. जीतू पटवारी ने ट्वीट में लिखा था कि एक पुत्र के चक्कर में 5 पुत्री पैदा हुई. नोटबंदी, जीएसटी, महंगाई, बेरोजगारी और मंदी लेकिन अभी तक विकास पैदा नहीं हुआ. इस ट्वीट के बाद प्रदेश की सियासत गरमाई. कृष्णा गौर के साथ भोपाल बीजेपी जिला अध्यक्ष सुमित पचौरी मौजूद थे. इसी प्रदर्शन को लेकर पुलिस ने तमाम नेताओं पर FIR की कार्रवाई की है.
गोविंदपुरा से बीजेपी विधायक कृष्णा गौर के अलावा मध्य भोपाल से कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद और उनके कार्यकर्ताओं के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज की गई है. एमपी नगर पुलिस ने बताया कि कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने अपने कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर पेट्रोल डीजल के बढ़ते दाम के विरोध में सरकार के खिलाफ बोर्ड ऑफिस चौराहे पर प्रदर्शन किया था. उन्होंने और उनकी पार्टी ने इस प्रदर्शन के लिए किसी भी तरह से प्रशासन से इजाज़त नहीं ली थी. बोर्ड ऑफिस चौराहे पर किसी तरह के धरना-प्रदर्शन की इजाज़त नहीं है. ये शहर का व्यस्ततम चौराहा है.यह पूरी तरीके से प्रदर्शन के लिए प्रतिबंधित है. इसके बावजूद भी विधायकों कृष्णा गौर और आरिफ मसूद ने वहां पर प्रदर्शन किया.

loading…