मध्यप्रदेश: महाराष्ट्र रेल हादसे में मारे गए 16 मजदूरों का आज दोपहर बाद होगा अंतिम संस्कार

भोपाल। कोरोना पॉजिटिव मरीजों का बढ़ता आंकड़ा थमने का नाम नहीं ले रहा है। मध्य प्रदेश में शुक्रवार रात तक 3341 संक्रमित मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। उधर, शुक्रवार को महाराष्ट्र के औरंगाबाद में रेल हादसे में मरने वाले श्रमिकों के शव विशेष ट्रेन से जबलपुर लाए जा रहे हैं। यहां से शवों को शहडोल और उमरिया के लिए भेजा जाएगा। दोपहर बाद सभी का अंतिम संस्कार होगा। मरने वालों में शहडोल के 11 और उमरिया के 5 श्रमिक हैं।
शहडोल के अंतौली गांव में एक साथ 11 लोगों का अंतिम संस्कार होगा। इनमें से 9 लोग एक ही परिवार के हैं। यह लोग एक ही मोहल्ले के रहने वाले थे। पूरे गांव में मातम पसरा है। अंतौली गांव में रहने वाले रामनिरंजन के तीन बेटे थे। इनमें दो रावेंद्र और निर्वेश स्टील कंपनी में काम करने गए थे। दोनों हादसे का शिकार हो गए। इसी तरह गजराज सिंह के दो बेटे और दो बेटियां थीं। गजराज के दोनों बेटे बुद्घराज सिंह और शिवदयाल सिंह भी हादसे का शिकार हुए हैं। वहीं, चाचा धन सिंह के साथ काम करने गया दीपक सिंह भी हादसे का शिकार हो गया। रामनिरंजन और गजराज सिंह भी रिश्ते में दूर के भाई लगते हैं।

loading…