दो बच्चों की मां के चरित्र पर शक कर पति ने मांगा तलाक, कोर्ट ने कराया डीएनए टेस्ट तो खुला चौंकाने वाला राज…

प्रतीकात्मक चित्र

ग्वालियर। सरकारी नौकरी के चलते दूसरे शहर में रह रही दो बच्चों की मां के चरित्र पर संदेह जताते हुए पति ने परिवार न्यायालय में तलाक का आवेदन पेश कर दिया। वजह, महिला का तीसरी बार गर्भधारण करना और तीसरी संतान को जन्म देना रहा। इसी को लेकर पति ने तलाक की अर्जी दे डाली। उसका कहना था कि साल भर से पत्नी उसके अलग रह रही है। ऐसे में तीसरी संतान (बेटी) मेरी नहीं हो सकती। महिला ने कोर्ट के समक्ष आरोपों को नकार दिया। कोर्ट ने दोनों का डीएनए टेस्ट कराने की बात कही।
इस पर दोनों राजी हो गए। डीएनए जांच रिपोर्ट आई तो महिला के गर्भ में पल रहा बच्चा पति का ही निकला। इस पर अतिरिक्त प्रधान न्यायाधीश हितेंद्र सिंह सिसौदिया ने तलाक का आवेदन खारिज कर दिया। परिवार न्यायालय में पहुंचे इस मामले में पति ने कोर्ट के समक्ष लिखित में यह बात स्वीकार की थी कि अगर डीएनए जांच में पाया जाता है कि गर्भ में पलने वाले बच्चे का पिता वहीं है, तो वह न केवल केस वापस ले लेगा बल्कि पत्नी आऐर बच्ची को भी अपना लेगा। लेकिन अब वह इन दोनों बातों को मानने से मुकर गया है। खास बात यह है कि इस पूरे मामले में महिला के आठ साल खराब हुए। इस दौरान उसे अपने दोनों बच्चों का लालन-पालन का भार भी उठाना पड़ा और मानसिक यातना भी सहनी पड़ी। इसके बाद भी उसका कहना है कि कोर्ट के फैसले के बाद वह रिश्ते को बचाने के लिए एक बार फिर प्रयास करेगी। इसके बाद भी बात नहीं बनी तो फिर मैं उनके खिलाफ मानहानि का दावा करूंगी।
पीड़ित महिला की शादी 2003 में ग्वालियर में एक स्कूल संचालक के साथ हुई। एमएससी, बीएड तक शिक्षा हासिल करने के कारण ससुराल में आते ही पति ने उसे कोचिंग पढ़ाने पर जोर दिया। उसने सहर्ष इसे स्वीकार कर लिया। 2005 में उसने बेटी को जन्म दिया और 2008 में बेटे को। 2009 में इटावा में उसकी सहायक प्राध्यापक के पद पर सरकारी नौकरी लग गई। इसके लिए वह ग्वालियर से इटावा अप-डाउन करने लगी। जब रोजाना आने-जाने में असुविधा हुई तो पति की सहमति से ही उसने स्थायी तौर पर इटावा में रहने का फैसला किया। पति भी उसके साथ वहां जाकर रहने लगा। ऐसा पीड़िता का कहना है। 2011 में वह तीसरी बार गर्भवती हुई तो पति के मन में संदेह का बीज घर कर गया। 2014 में कोर्ट में तलाक के लिए आवेदन दे डाला। ससुराल वालों से भी बात की तो उनका कहना था कि उसका पति किसी बाबा (तांत्रिक) के चक्कर में है, इसी के चलते वह यह सब कर रहा है।

loading…

सबसे ज्यादा पढी गई

Loading…