लॉकडाउन से पहले हनीमून मनाने आया था कपल, पत्नी बोली- अब पता चला हनीमून में ऐसा भी होता है

ग्रेटर नोएडा. प्रवासी श्रमिकों के साथ दिल्ली एनसीआर फंसे लोग अब धीरे-धीरे अपने घरों को लौटने लगे हैं। ऐसा नहीं है कि श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में केवल मजदूर और उनके परिवार ही जा रहे हैं। उनके अलावा वे लोग भी अपने घरों को लौट रहे हैं, जो लॉकडाउन से पहले नोएडा में फंस गए थे। दनकौर रेलवे स्टेशन से रविवार शाम श्रमिकों को लेकर जा रही ट्रेन में इलाहाबाद निवासी अमरेंद्र भी सवार थे, जो अपनी नवविवाहिता पत्नी के साथ मार्च के तीसरे सप्ताह में हनीमून मनाने आए थे, लेकिन लॉकडाउन के कारण नोएडा में फंस गए थे।

स्पेशल ट्रेन में पत्नी कोकिल के साथ इलाहाबाद जाने को सवार हुए अमरेंद्र ने बताया कि उनकी शादी मार्च के पहले सप्ताह में हुई थी। वह अपनी नवविवाहिता पत्नी के साथ 18 मार्च को इलाहाबाद से दिल्ली के लिए रवाना हुए थे। उन्होंने बताया कि वह एक कंपनी में जॉब करते हैं। इसलिए 15 दिन की छुट्टी लेकर पत्नी के साथ हनीमून मनाने शिमला के लिए निकले थे। अमरेंद्र ने बताया कि हनीमून से पहले उन्हें दिल्ली एनसीआर में रहने वाले कुछ दोस्तों से मिलना था। लेकिन, उनके हनीमून से पहले ही लॉकडाउन शुरू हो गया। उन्हें करीब डेढ़ माह तक अपने दोस्त के यहां नोएडा में रुकना पड़ा। दोस्त की भी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। इसलिए अन्य दोस्तों से पेटीएम के जरिये उधार रुपये लेकर काम चलाना पड़ा।

रविवार के देर शाम दनकौर रेलवे स्टेशन पर पहुंचे नवदंपती के चेहरे पर लंबे समय बाद घर लौटने की खुशी देखते ही बन रही थी। अमरेंद्र के बाद जब उनकी पत्नी कोकिल से पूछा गया कि तो उन्होंने कहा बेबाक कहा कि हनीमून ऐसा भी होता है, यह तो लॉकडाउन में ही पता चला है। कोकिल भरे मन से बताया कि लॉकडाउन में उनका चिर-परिचितों ने भी साथ नहीं दिया। विवाह के बाद तो उनके अपनों ने भी साथ छोड़ दिया है।

loading…