पुरुषों को देर रात नहीं करना चाहिए ये काम, नहीं तो…

पुरुषों को देर रात नहीं करना चाहिए ये काम, नहीं तो हो जाएगी ये समस्याआज के दौर में तमाम महिलाएं और पुरुष समान रूप से दिनभर अपने दफ्तर या बिजनेस से जुड़े काम में बिजी रहते हैं। उसके बाद शाम को देर रात तक किसी न किसी गतिविधि में संलिप्त रहते हैं। इससे उनकी सेहत पर बुरा असर पड़ता है, जो उनकी पौरुष शक्ति पर भी काफी नकारात्मक होता है। इतना ही नहीं, उनकी सेक्सुअल हेल्थ भी काफी बुरी तरह प्रभावित होती है और वह अपने पार्टनर में कोई दिलचस्पी भी नहीं दिखाते हैं। यह पति-पत्नी के बीच झगड़े का कारण भी बन सकता है। लेकिन पुरुष इससे बचे रहने के लिए नीचे बताए जा रहे कुछ टिप्स को अपना सकते हैं।

पुरुषों को सबसे पहले तो यह बात अपनी ध्यान में बिल्कुल रखनी चाहिए कि उन्हें देर रात तक नहीं जागना है। दरअसल, देर रात तक जागते रहने से कारण शरीर के कई ऐसे अंग है जो सक्रिय रूप से कार्य नहीं करते हैं। यह स्लीपिंग हार्मोन में असंतुलन बनाने के साथ-साथ टेस्टोस्टेरोन लेवल को भी काफी कम कर देते हैं। इसका सीधा प्रभाव पुरुषों के सेक्सुअल लाइफ का पड़ता है। इसलिए देर रात तक जागने से बचें और समय पर सोएं।

स्ट्रेस ना लेने का सबसे बड़ा यह फायदा है कि आपकी क्वालिटी ऑफ लाइफ काफी अच्छी रहेगी। स्ट्रेस लेने वाली पुरुषों की न केवल शारीरिक शक्ति कमजोर होती है बल्कि वह मानसिक रूप से भी काफी कमजोर हो जाते हैं। स्ट्रेस लेने का असर टेस्टोस्टेरोन हार्मोन पर भी पड़ता है जो तेजी से घटने लगता है। इसलिए किसी भी चीज के बारे में ज्यादा स्ट्रेस ना लें। जब भी आप को ज्यादा स्ट्रेस महसूस हो तो आप अपने किसी दोस्त यह किसी खास इंसान से अपनी समस्या का जिक्र करें और स्ट्रेस लेने से बचे रहें।

यहां गलत आदतों का यह मतलब है कि आप ऐसे किसी भी कार्य को ना करें जिसके कारण आपकी पौरुष शक्ति दिन प्रतिदिन कमजोर हो जाए। यदि आप नियमित रूप से करते हैं या किसी दूसरी तरह से सेक्सुअली एक्टिव हैं, तो अपनी इस आदत को जितना जल्दी हो सके उतना जल्दी छोड़ दें। यह न केवल आपको अपनी पार्टनर के लिए होने वाले दिलचस्पी को घटाएगा बल्कि आपको यह शारीरिक रूप से कमजोर भी करेगा। इसलिए अगर आप इस प्रकार की किसी भी स्थिति से जुड़े हैं तो कोशिश करें कि जल्द से जल्द उनसे दूर हो जाएं।

आजकल की युवा पीढ़ी कई प्रकार की फिल्मों में दिलचस्पी लेती है जो न केवल उनके मानसिक स्वास्थ्य के लिए नकारात्मक होती हैं बल्कि उन्हें कई प्रकार से उत्तेजित कर सेहत से जुड़े नुकसान पहुंचाती हैं। ऐसी फिल्में देखने के कारण कई पुरुषों को स्वप्नदोष की समस्या भी होने लगती है। यह समस्या अगर एक बार शुरू हो जाती है तो इससे रोकने में लंबा इलाज चलता है। इसलिए ऐसी किसी प्रकार की संवेदनशील सामग्री को ना देखें जो आपकी सेक्सुअल लाइफ को प्रभावित करे।

टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का ठीक तरह से विकसित ना होना और उसमें असंतुलन बने रहने का यह प्रमुख कारण हो सकता है। कई पुरुषों और लड़कों के द्वारा नियमित रूप से अल्कोहल और स्मोकिंग की जाती है। यह न केवल आपके स्पर्म काउंट को कम कर सकता है बल्कि स्पर्म मोटिलिटी को भी यह काफी कम कर देगा। इसका दुष्प्रभाव पुरुषों की प्रजनन क्षमता को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाता है। इसलिए स्मोकिंग और अल्कोहल का सेवन जितना जल्दी हो सके उतना जल्दी छोड़ दें।

कई पुरुष ऐसे भी होते हैं जो अपने किसी पार्टनर या गर्लफ्रेंड के साथ जब रिलेशनशिप में होते हैं तो तमाम तरह के भी खाते हैं। यह उनकी सेहत के लिए न केवल हानिकारक है बल्कि भविष्य में इसके कारण होने वाले दुष्परिणाम भी बहुत ज्यादा है। इसलिए किसी भी प्रकार के मेडिकल दवाओं या फिर इंजेक्शन का प्रयोग ना करें, क्योंकि आप भविष्य में आपके लिए मुसीबत बन सकता है। इसके कारण आप कई प्रकार की बीमारियों से भी घिर सकते हैं। इसलिए प्राकृतिक रूप से मौजूद खाद्य पदार्थों का सेवन करें जो आपके टेस्टोस्टेरोन हार्मोन को बूस्ट करें। इसके अलावा आप किसी भी प्रकार की रासायनिक खाद्य पदार्थों का सेवन करके अपनी पौरुष शक्ति को कमजोर ना करें।

loading…