हिमाचल मे नाराज दुल्हन पक्ष के 2 दर्जन लोगों ने आधी रात दूल्हे के घर बोला धावा, आधा दर्जन घायल

हमीरपुर :  घरवालों की मर्जी के खिलाफ शादी रचाने पर दुल्हन के मायका पक्ष के दो दर्जन लोगों ने आधी रात को दूल्हे के घर पर हमला बोल दिया। इस हमले में आधा दर्जन लोग घायल हुए हैं। तीन गंभीर घायल लोगों को मेडिकल कॉलेज हमीरपुर में प्राथमिक उपचार के लिए टांडा मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया। बुधवार आधी रात करीब तीन बजे हिमाचल प्रदेश की नगर परिषद हमीरपुर के वार्ड नंबर पांच स्थित सुमित कुमार के घर पर अचानक किए गए इस हमले के दौरान खूब चीख पुकार मच गई।

आसपास के घरों में रहने वाले लोग डर की वजह से घर की छतों पर चढ़ गए। जहां पर यह खूनी झड़प हुई, उससे महज 200 मीटर दूरी पर जिला मुख्यालय का पुलिस थाना सदर है। इस जानलेवा हमले में दूल्हा सुमित कुमार, उसके पिता प्रेम चंद और दूसरे कमरे में सो रही बहन ज्योति कुमारी गंभीर घायल हैं। जबकि, दूल्हे की माता और चाचा समेत अन्य लोगों को हल्की चोटें आई हैं। हमलावर घर के दरवाजे तोड़ कर अंदर घुसे थे।

इस मारपीट के दौरान खिड़की के शीशे और दरवाजे तोड़ डाले और भीतर रखे सामान को भी नुकसान पहुंचा है। हमले के बाद मायका पक्ष के लोग अपनी बेटी को उठाकर साथ ले गए। लड़की का मायका नादौन के किटपल में हैं, लेकिन वह कई सालों से पंजाब के लुधियाना में रहते हैं। बुधवार दोपहर को ही युवक और युवती ने एसडीएम कोर्ट में शादी रचाई थी। लड़की का कहना था कि वह बालिग है और अपनी मर्जी से शादी रचा रही है। इसके बावजूद मायका पक्ष के लोगों को यह शादी रास नहीं आई और आधी रात को दूल्हे के घर पर धावा बोल दिया।

खूनी झड़प के बाद मायका पक्ष बेटी को गाड़ी में बैठाकर अपने साथ ले गया। वहीं, सूचना मिलने के बाद पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। इसके साथ ही पुलिस ने ऊना और कांगड़ा पुलिस को सूचना देकर बॉर्डर पर चौकसी बढ़ा दी है। सुमित ने पुलिस प्रशासन से मांग की है कि उसकी पत्नी की सुरक्षा सुनिश्चित की जाए, अन्यथा वे लोग पत्नी को जान से मार सकते हैं। उधर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हमीरपुर विजय सकलानी ने कहा कि शिकायत के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। पीड़ित लोगों का मेडिकल करवाया जा रहा है। मामले की जांच चल रही है।