हरिद्वार में हरियाणा और यूपी के युवकों को हुक्का गुड़गुड़ाना पड़ा महंगा, लोगों ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा

हरिद्वार : हरियाणा और मुजफ्फरनगर के छह युवकों को हरकी पैड़ी स्थित मालवीय घाट पर हुक्का गुड़गुड़ाना महंगा पड़ा। युवकों के हुक्का पीने और हुड़दंग मचाने से नाराज स्थानीय लोगों ने युवकों को पिटाई कर दी।

मुकदमा दर्ज कर चालान की कार्रवाई की
युवकों ने भागकर जान बचाई। पुलिस ने युवकों के खिलाफ आपदा अधिनियम के अंतर्गत मुकदमा दर्ज कर चालान की कार्रवाई की है। वहीं, दिल्ली और हरियाणा के तीन युवकों को भी ऋषिकुल स्थित गंगा घाट पर हुक्का पीते पुलिस ने दबोचा है।

हुडदंग का विरोध किया तो युवक अभद्रता करने लगे
बुधवार देर रात मालवीय घाट पर हरियाणा और मुजफ्फरनगर के युवक हुड़दंग मचा रहे थे। युवक हुक्का भी पी रहे थे। उस वक्त घाट पर लोगों की भीड़ थी। लोगों ने हुडदंग का विरोध किया तो युवक अभद्रता करने लगे। इतने में कुछ स्थानीय लोगों ने युवकों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा।

हुड़दंग मचाने वाले छह युवकों को हिरासत में लिया
लोगों ने उनका हुक्का छीनकर तोड़ दिया। इससे वहां अफरा-तफरी मच गई। सूचना पर हरकी पैड़ी चौकी इंचार्ज अरविंद रतूड़ी पहुंचे। पुलिस ने हुड़दंग मचाने वाले छह युवकों को हिरासत में ले लिया।

आपदा अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया
पूछताछ में युवकों ने अपने नाम मोहन, दीपक, सुमित निवासी लडरावन थाना बहादुरगढ़ झज्जर, रविंद्र निवासी गांव बैडी भैरो थाना मेहम, रोहतक, नितेश और नितिन निवासी गांव दूधली चरथावल मुजफ्फरनगर बताया। उनके खिलाफ आपदा अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया।

बुधवार देर रात भी हुक्का पीने वाले युवकाें को किया गिरफ्तार
मायापुर चौकी इंचार्ज संजीत कंडारी ने भी बुधवार देर रात 11 बजे जब ऋषिकुल स्थित घाट पर हुक्का पीने के आरोप में सोनू और मनोज निवासी समसपुर खालसा, थाना जफरपुर दिल्ली और कोकी निवासी गडमारकपुर जिला सोनीपत को गिरफ्तार किया है। उनके खिलाफ भी आपदा अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया है।