25 साल से घर से बाहर नहीं निकला ये शख्स और जब निकला तो लोगों के उड़े होश

नई दिल्ली। ब्रिटेन के रहने वाले एलेक्‍स एक बहुत ही अलग और अनोखी बीमारी से जूझ रहे हैं। एलेक्‍स को जो बीमारी हुई है वो 10 लाख में से किसी एक को होती है। अब इंसान के रूप में जन्म हुआ है तो उसे जीवन में कभी न कभी तो सूरज की रौशनी का सामना करना पड़ेगा लेकिन एलेक्‍स को बचपन से ही धूप से ऐसी एलर्जी है कि उनकी पूरी त्वचा धूप के संपर्क में आते ही जल जाती है। आपको जानकर हैरानी होगी कि, सूरज की रोशनी से जलने से खुद को बचाने के लिए एलेक्स ऐसा जतन करते हैं कि आप कभी सोच भी नहीं सकते। एलेक्स खुद को बचाने के लिए अपने ही चेहरे का मास्‍क लगाकर बहार जाते हैं। डॉक्टरों के मुताबिक एलेक्‍स xeroderma pigmentosum नाम की बीमारी से ग्रसित हैं। एक शो में थे ‘सेकेंड स्‍क‍िन’ मास्‍क के बारे में बताया, जिसने एलेक्‍स को नई जिंदगी दी।

जानकारी के लिए बता दें कि, उनकी त्‍वचा यूवी किरणों के प्रति आम इंसान के मुकाबले 10 हजार गुना ज्‍यादा संवेदनशील है। बचपन से ही डॉक्‍टरों ने उन्‍हें दिन में बाहर निकलने से मना किया है। जन्‍म के कुछ ही महीनों में एलेक्‍स को इस बीमारी से ग्रसित पाया गया। सूरज की रोशनी में उसका चेहरा जैसे जल-भून गया था। उसकी त्‍वचा में डीएनए डैमेज को रिपेयर करने की क्षमता बेहद कम है। इसके लिए उनका खास ख्याल रखना पड़ता था। 25 साल की उम्र तक एलेक्स बड़ी मुश्किल से जिंदगी जी रहे थे फिर अचानक से उनकी ज़िंदगी में आशा की एक किरण आई। उनका ‘सेकेंड स्‍क‍िन’ मास्‍क स्‍पेशल कैमरों का इस्‍तेमाल किया गया। एलेक्‍स की हजारों तस्‍वीरें ली गईं और कंप्‍यूटर की मदद से 3डी मॉडल मास्‍क तैयार किया गया और आज वह बहार घूमने में सक्षम हैं।