सब प्लानिंग से चलता तो अगले 3 साल में इतनी होती राज कुंद्रा की कमाई, खुला काला चिट्ठा

मुंबई: राज कुंद्रा की गिरफ्तारी के बाद से ही सॉफ्ट पॉर्नोग्राफी केस में रोजाना नए-नए खुलासे हो रहे हैं. अब पॉर्नोग्राफी से राज कुंद्रा की होने वाली कमाई का खुलासा हुआ है. इसके साथ ही Zee News के हाथ एक पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन भी लगा है, जिसमें आने वाले 3 सालों में बिजनेस से होने वाली कमाई का अंदाजा लगाया गया है. अगर सबकुछ प्लानिंग के साथ चलता तो अगले तीन में ग्रॉस रेवेन्यू 146 करोड़ रुपये पहुंच जाता.

अगले 3 साल में कमाई को लेकर प्लानिंग
मुंबई क्राइम ब्रांच के पास मौजूद पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के अनुसार, अगले तीन सालों ( 2021-22, 2022-23, 2023-24) में Plan B यानि Bolly Fame नाम के ऐप से होने वाली इनकम का अंदाजा लगाया गया है. इस पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के हिसाब से राज कुंद्रा का दूसरे ऐप BollyFame से साल 2021-22 में 36,50,00,000 की ग्रॉस इनकम होनी थी, जिसमें से 4,76,85000 का नेट प्रॉफिट होना था.

साल 2022-23 के लिए ग्रॉस रेवेन्यू 7,3,00,00,000 होने का टारगेट था, जिसमें नेट प्रोफिट 4,76,85,000 शामिल था. जबकि साल 2023- 24 में तो ये आंकड़ा कई गुना बढ़ जाता था. इस साल के लिए ग्रॉस रेवेन्यू का 1,46,00,00,000 का प्रोजेक्शन था, जिसमें नेट प्रॉफिट 30,42,01,400 रुपये शामिल था.

पावर पॉइंट में खर्चों का भी है पूरा हिसाब
क्राइम ब्रांच के सूत्रों से मिले दस्तावेजों में 2 पेज शामिल है. इसमें से दूसरे पेज में BollyFame से जुड़े प्रोजेक्टेड रेवेन्यू और खर्चों को भारतीय रुपये में नही, बल्कि पाउंड में दिखाया गया है. खर्चों की बात की जाए तो दूसरे पावर पॉइंट पेज के मुताबिक साल 2021-22 में 3 लाख पाउंड यानी करीब 3 करोड़ रुपये , साल 2022-23 में 3 लाख 60 हजार पाउंड यानी करीब 3.6 करोड़ रुपये और साल 2023-24 में 4 लाख 32 हजार पाउंड यानी करीब 4.3 करोड़ रुपये प्रोजेक्टेड हिसाब दिखाया गया है.

उमेश कामत की गिरफ्तारी के बाद मिले थे डॉक्यूमेंट
ये दस्तावेज मुंबई क्राइम ब्रांच को फरवरी महीने में राज कुंद्रा के PA रहे उमेश कामत की गिरफ्तारी के बाद मिले थे. इन दस्तावेजों में मिली जानकारी पर अभी भी क्राइम ब्रांच के अधिकारियों के सामने कई बातें साफ नहीं हुई है. अब क्राइम ब्रांच के अधिकारी राज कुंद्रा से पूछताछ, उनके फाइनेंस डिपार्टमेंट से जुड़े कर्मचारियों से पूछताछ और उनके बैंक डिटेल्स से मिली जानकारी के बाद ही किसी निष्कर्ष पर आ सकेंगे.