प्रधानजी करने लगे ऐसी गंदी हरकत, लड़की उठी ओर तमंचा लाकर मार दी गोली, मचा हड़कंप

कन्नौज। उत्तर प्रदेश के कन्नौज में रविवार को हुई प्रधान पति रामसरन की हत्या का पुलिस ने चौंकाने वाला खुलासा किया है. जलालपुर अमरा ग्राम पंचायत के प्रधान के पति रामसरन की हत्या आशिक मिजाजी के चलते हुई. पुलिस को दी गई तहरीर में मृतक रामसरन के बेटे ने बताया था कि युवती के भाई ने एक पंचायत के मामले में फोन कर घर बुलाया था और 20 जून की रात को गोली मार कर हत्या कर दी गई थी.

पकड़े जाने पर युवती ने पुलिस को बताया कि वो डेढ़ साल से रामसरन की आशिक मिजाजी से परेशान थी और वो उसकी मंझली बहन पर भी गंदी नीयत रखता था. घटना के दिन मां कुछ काम से दूसरी जगह गईं तो रामसरन उसे गोद में बैठाने की कोशिश करने लगा. गनीमत रही कि मां आ गईं और इस बीच वह घर से तमंचा ले आई फिर उसने रामसरन को पीछे से गोली मार दी.

कन्नौज जिले के सदर कोतवाली क्षेत्र के हीरापुरवा गांव निवासी रामश्री जलालपुर अमरा ग्राम पंचायत की नवनिर्वाचित प्रधान हैं. बीते 20 जून की रात उनके पति 50 वर्षीय रामसरन की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. रामसरन के बेटे दीपक ने श्याम बिहारी, हेमचंद्र, बबलू, राहुल और टिंकरी पर पंचायत के दौरान गोली मारकर हत्या करने का आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज कराई थी.

पुलिस ने इस मामले की गंभीरता से जांच की और कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई. फिर पुलिस ने हत्या की साजिश रचने वाली युवती और गोलीकांड में सहयोग करने वाले हेमचंद्र और श्याम बिहारी को गिरफ्तार किया. साथ ही एक देशी राइफल और कारतूस भी पुलिस ने इनके पास से बरामद किए. तीनों आरोपियों को जेल भेज दिया गया है और अन्य आरोपियों को गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है.

पुलिस ने पटियन गांव निवासी वेदराम और भुप्पा को हत्या में युवती की मदद करने के आरोप में आरोपी बनाया है. वहीं आरोपी लड़की ने पुलिस को बताया कि बताया कि प्रधान के पति रामसरन करीब डेढ़ साल से उसके साथ छेड़खानी करता था. वह जबरन उसके साथ संबंध बनाना चाहता था, जिसकी उसने परिजनों से शिकायत भी की थी.

युवती ने पुलिस को बताया कि रामसरन उसकी मंझली बहन पर भी गलत नियत रखता था. उसकी हरकतों से तंग आकर युवती ने हत्या की साजिश रची थी. आरोपी युवती ने बताया कि मृतक की मां और उसके छोटे भाई से उसकी लड़ाई भी हुई थी. जिसकी शिकायत करने के लिए युवती ने प्रधान पति को घर पर बुलाया था और उसी की पंचायत चल रही थी. उसी दौरान मौका मिलते ही युवती ने उसकी गोली मारकर हत्या कर दी.

युवती ने बताया कि हत्या करने के बाद वह रात को ही काली नदी के पास पहुंची. वहां पर मौजूद श्याम बिहारी और टिंकरी ने युवती को एक दिन शहर के ही छिपट्टी मोहल्ले में रखा था. एक दिन गुजारने के बाद युवती फर्रुखाबाद भाग गई थी. आरोपी युवती ने हत्या के लिए तमंचा मामा वेदराम से मांगा था.

इस मामले पर ज्यादा जानकारी देते हुए एसपी प्रशांत वर्मा ने बताया कि थाना सदर कोतवाली क्षेत्र के हीरा पुरवा गांव में परसों रात एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी उसके संबंध में तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया है. जिनमें श्याम बिहारी उर्फ सुदामा यह हीरा पुरवा के रहने वाले हैं और हेमचंद यह भी हीरा पुरवा का रहने वाला है उसके साथ एक महिला को भी गिरफ्तार किया गया है और इस पूरे घटनाक्रम में एक देसी राइफल एक देसी तमंचा और कारतूस मिले हैं.

प्राथमिक रूप से इनसे पूछताछ करने पर घटना का कारण प्रेम प्रसंग सामने आया है और यह भी आरोप लगाए जा रहा है कि जो यह मृतक जबरदस्ती महिला के साथ गलत व्यवहार कर रहा था इसके कारण वारदात हुई. हम सभी इस मामले के तह तक जाने का प्रयास कर रहे हैं.