BJP बजट सत्र के लिए तैयार: राजनाथ के आवास पर बनी खास रणनीति, ये लोग रहे शामिल

नई दिल्ली: 29 जनवरी से शुरू हो रहे संसद के बजट सत्र की रणनीति पर चर्चा के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेताओं ने बुधवार को केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह के आवास पर एक बैठक की। यह बैठक कृषि कानूनों, चीन और और रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी के व्हाट्सएप मैसेज लीक के मुद्दे पर सरकार को घेरने की विपक्ष की आक्रामक तैयारी का सामना करने के लिए थी।

सर्वदलीय बैठक तीस जनवरी को होनी है जिसकी अध्यक्षता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। इस बैठक में विपक्ष की मांगों और सत्र के लिए सरकार की विधायी योजनाओं पर चर्चा होने की उम्मीद है। हर संसद सत्र से पहले सभी पार्टियों की बैठकें परंपरागत होती हैं। जिसमें बजट सत्र के दौरान पार्टी की रणनीति पर चर्चा की जाती है।

विपक्ष उठाएगा कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध का मुद्दा
बैठक में भाजपा के एक पदाधिकारी ने कहा कि विपक्ष सितंबर में पारित तीन कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध का मुद्दा उठाएगा क्योंकि सरकार ने बार-बार कहा कि ये कानून किसानों को लाभान्वित करते हैं और कानूनों के कई प्रावधान कांग्रेस सहित कई दलों द्वारा सुझाए गए हैं।

पदाधिकारी ने कहा कांग्रेस किसानों को गुमराह करते हुए आरोप लगा रही है कि कानूनों से कारपोरेट सेक्टर को फायदा होगा लेकिन सच्चाई यह है कि जब वे सत्ता में थे तो उन्होंने खुद भी APMC (कृषि उपज बाजार समिति) अधिनियम को खत्म करने जैसे सुझाव दिए थे। बैठक में भाग लेने वालों में केंद्रीय मंत्री एस जयशंकर, रविशंकर प्रसाद, प्रहलाद जोशी, और थावर चंद गहलोत शामिल थे।

कांग्रेस ने मोदी और शीर्ष मंत्रियों पर लगाया ये आरोप
कांग्रेस ने कहा है कि वह सत्र के दौरान अर्नब गोस्वामी की चैट का मुद्दा उठाएगी। विपक्ष ने लीक हुए संदेशों पर सरकार की मिलीभगत और जानबूझकर सूचनाओं को लीक करने का आरोप लगाया है। कांग्रेस ने मोदी और शीर्ष मंत्रियों पर आधिकारिक राज अधिनियम का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है। पार्टी ने उन लोगों के खिलाफ जांच और कार्रवाई की मांग की है, जिन्होंने कथित रूप से गोस्वामी को संवेदनशील जानकारी लीक की थीं।

ये भी पढेंः खबरें हटके

big news