बडी खबर: बिहार को 86 साल बाद मिलने वाली है ये बडी सौगात, PM मोदी के हाथो..

पटना: 1934 में आए भूकंप की वजह से कोसी नदी पर बना रेल पुल क्षतिग्रस्त हो जाने के बाद से यह रेल मार्ग बंद था। 86 साल बाद अब कोसी नदी पर रेलवे का पुल तैयार हो गया है, जिसके ऊपर 18 सितंबर से ट्रेनें दौड़ने लगेंगी। कोसी नदी पर बने रेल पुल से ट्रेनों का परिचालन शुरू होने का सबसे ज्यादा लाभ दरभंगा, मधुबनी, सुपौल और सहरसा जिले में रहने वालों को होगा।

मिथिलांचल को एक और तोहफा
पीएम नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 18 सितंबर को 516 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित कोसी महासेतु का उद्घाटन करेंगे। इसी दिन सरायगढ़ से आसनपुर कुपहा के बीच ट्रेन भी रवाना की जायेगी। इससे अब कोसी क्षेत्र से मिथिलांचल जुड़ जाएगा। इस रेल पुल के शुरू होते ही निर्मली से सरायगढ़ की 298 किलोमीटर की दूरी घटकर महज 22 किलोमीटर रह जाएगी। फिलहाल निर्मली से सरायगढ़ तक के सफर के लिए लोगो को दरभंगा- समस्तीपुर- खगड़िया- मानसी-सहरसा होते हुए 298 किमी की दूरी तय करनी होती है। बता दें कि इस नए पुल पर जून महीने में ही ट्रेनों के परिचालन की टेस्टिंग की जा चुकी है। बता दें कि नवंबर के पहले सप्ताह से दरभंगा एसरपोर्ट से दिल्ली, मुंबई और बंगलोर के लिए हवाई सेवा भी शुरू हो रही है।

भूतपूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने रखी थी नींव
बिहार में वर्ष 1934 में आए भूकंप के दौरान कोसी नदी पर बना रेल पुल क्षतिग्रस्त हो गया था। इसके साथ ही उत्तर और पूर्व बिहार के बीच का रेल संपर्क टूट गया था। बाद के दिनों में दोनों इलाकों के बीच रेल संपर्क कायम तो हुआ, लेकिन कोसी नदी पर पुल निर्माण का कार्य अटका ही रहा। इस कारण दरभंगा और मधुबनी को सीधे सुपौल व सहरसा से जोड़ने वाला मार्ग बंद था। वर्ष 2003 में 6 जून को तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ने इस दिशा में पहल की और कोसी नदी पर रेल पुल की नींव रखी गई। 17 साल बाद आज यह पुल बनकर तैयार हुआ है, जिसका उदघाटन पीएम नरेंद्र मोदी करेंगे।

पीएम मोदी के जन्मदिन को सेवा सप्ताह के रूप में मनायेगी बीजेपी
बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने बताया कि बीजेपी, पीएम के जन्मदिन को सेवा सप्ताह के रूप में मना रही है। इसके तहत 14 से 20 सितंबर तक अनेक कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। उन्होंने यह भी बताया कि सेवा सप्ताह के दौरान गरीब कल्याण, पर्यावरण संरक्षण और स्वच्छता अभियान से संबंधित अनेक गतिविधियां चलायी जा रही हैं। सेवा सप्ताह के दौरान प्रत्येक मंडल में 70 दिव्यांगों को कृत्रिम अंग और उपकरण और 70 गरीब लोगो को आवश्यकता अनुसार चश्मा दिया जाएगा। सेवा सप्ताह के दौरान प्रत्येक जिले में 70 गरीब बस्तियों एवं अस्पतालों में कोविड-19 के दिशा निर्देशों का पालन करते हुए फल वितरित किए जाएंगे।

युवा मोर्चा लगाए रक्तदान शिविर
इसके अलावा कार्यकर्ताओं को कोरोना संक्रमित 70 लोगों को आवश्यकता अनुसार अस्पताल के माध्यम से प्लाज्मा डोनेट करने को कहा गया है। युवा मोर्चा के द्वारा रक्तदान शिविर लगाया जाएगा। बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष ने बताया कि प्रधानमंत्री के जन्मदिन पर लोग उनके विचारों, व्यक्तित्व और कृतित्व से अवगत हो, इसके लिए वेबीनार के माध्यम से 70 बड़ी वर्चुअल कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इनमें समाज के प्रबुद्ध लोगों का संबोधन होगा।

Trending Posts

loading…