आखिर देवता क्यो दिखाई नहीं देेते, और क्यो नही होती उनकी दाढ़ी मूॅछे, जाने ये राज बात

सदियों से भारत वर्ष ही नही बल्कि दुनिया के हर कोने मे शक्तियो के अनुरूप देवताओं का राज रहा है और विभिन्न स्थानों पर इन्हें अनको प्रकार से पूजा जाता है ।आज हम आपको इन्ही के बारे मे बताना चाहते है।

देवता वे होते है जिनमे दिव्यगुण हों तथा अलौकिक वस्तु देने की सामथ्र्य रखते है देवताओ को समान्य दृष्टि से नही देखा जा सकता है। इन्हे देखने के लिये दिव्य दृष्टि की आवश्यकता होती है।

महाभारत के युध्द मे श्री कृष्ण मानव रूप मे अर्जुन के साथ रहते थे परंतु श्री कृष्ण का दिव्य रूप देखने के लिये अर्जुन को भगवान श्री कृष्ण ने दिव्य दृष्टि प्रदान की थी तभी वह उनका दिव्य रूप देख सके थे।कहा जाता है कि जो बडे बडे ग्रंथो व पुराणों मे लिखा है कि असाधारण प्राणी देवताओं को देख सकते है परंतु साधारण प्राणी उन्हे नही देख सकता।

देवता सदैव युवा रहते है उनके पास अलौकिक शक्तियां होती है देवता कभी वृध्द नहीं होते और न हीं उनकी कभी मृत्यु होती है इसलिये उन्हे दाढ़ी मूॅछ नही आती है।

ये भी पढेंः खबरें हटके

big news