यहां दहेज में दिए जाते हैं 1, 2 नहीं बल्कि 21 जहरीले सांप, वरना होता है ये अपशगुन!

नई दिल्ली. भारत में बेटियों की शादी में लेनदेन की परंपरा सदियों से चली आ रही है. बेटी की शादी में पिता खुशी से पैसे, गाड़ी, साड़ियां, गहने और कई तरह के उपहार देता है. पर एक पल के लिए जरा दिमाग पर जोर दीजिए और सोचिए की कोई पिता अपनी बेटी को शादी में गहने, गिफ्ट्स का न देकर जहरीले सांप (Snakes) दे तो? है न हैरानी की बात. बात बेशक हैरानी की हो, लेकिन हमारे भारत में ऐसा भी होता है. बेटियों को शादी में तोहफे के तौर पर जहरीले सांप देने की परंपरा सदियों से चली आ रही है.


ये परंपरा मध्यप्रदेश के एक विशेष समुदाय द्वारा निभाई जा रही है. प्रदेश के गौरिया समुदाय के लोग अपने दमाद को दहेज में 21 जहरीले सांप देते हैं. गौरिया समुदाय के लोगों का मानना है कि अगर कोई पिता शादी में अपने दामाद को जहरीले सांप न दे तो उसकी बेटी की शादी ज्यादा दिनों तक नहीं चलती और वो टूट जाती है.
बेटी को दहेज में 21 सांप देने की परंपरा इस वजह से चल रही है, क्योंकि इस समुदाय का प्रमुख काम सांप पकड़ना है. गौरिया समुदाय के लोग सांप के जरिए ही पैसा कमाते हैं. गौरिया समुदाय में किसी बेटी की शादी फिक्स होती है तब लड़की का पिता जहरीले सांपों को इकट्ठा करने में जुट जाता है. बेटी के पिता द्वारा दामाद को सांप इस वजह से दिए जाते हैं, ताकि वह परिवार का पेट पाल सके. गौरिया समुदाय के लोग सांप को परिवार का सदस्य मानते हैं. इस समुदाय में यदि कोई सांप पिटारे में मर जाता है तो पूरा परिवार अपना मुंडन करवाता है. साथ ही सांप की मृत्यु पर परिवार को पूरे समुदाय के लिए भोज का आयोजन करना पड़ता है. ये सभी नियम सांप को सुरक्षित रखने के लिए बनाए गए हैं.