हवाई यात्रा के लिये सरकार ने जारी की गाईडलाईन, यहां देंखे विस्तार से

नई दिल्ली। घरेलू उड़ानों को सोमवार को फिर से शुरू करने के लिये नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने एसओपी जारी की है। मंत्रालय ने कहा है कि बुजुर्गों, गर्भवती महिलाओं और स्वास्थ्य समस्याओं से ग्रस्त यात्रियों सहित कमजोर व्यक्तियों को हवाई यात्रा से बचना चाहिए।

हवाई यात्रा के लिये नागरिक उड्डयन मंत्रालय द्वारा घोषित नए नियम

उड़ानों से 2 घंटे पहले हवाई अड्डे को रिपोर्ट करें

फेस मास्क जरूरी

अनुमति में केवल वेब-चेक, सामान टैग भी ऑनलाइन प्राप्त करें

प्रति यात्री एक चेक-इन बैगय सामान टैग ऑनलाइन मुद्रित और सामान से जुड़ा होना

किसी भी क्षेत्र के यात्रियों को अनुमति नहीं है

यात्री संपर्क जानकारी के साथ आरोग्य सेतु ऐप या स्व-घोषणा पत्र का उपयोग कर सकते हैं

हवाई अड्डे पर सभी स्थानों पर सामाजिक दूरी को बनाए रखें, इसके लिए मार्करों और संकेतों का पालन करें

यात्री को थर्मल स्क्रीनिंग से गुजरना होगा

काउंटर ड्रॉप डाउन पर बैगेज रसीद की पुष्टि यात्री के फोन पर एसएमएस के जरिए की जाएगी।

उड़ान से कम से कम एक घंटे पहले बैग को छोड़ना होगा।

सुरक्षा स्टाफ का यात्रियों के साथ न्यूनतम शारीरिक संपर्क होना चाहिए

यात्रियों को कर्मचारियों को आरोग्य सेतु का दर्जा दिखाना चाहिए। यदि उनके पास आरोग्य सेतु नहीं है, तो उन्हें इसे वहीं डाउनलोड करना होगा। 14 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को ऐप की आवश्यकता नहीं है।

यात्री शौचालय का उपयोग कम से कम करें

बाथरूम के लिए विमानों में कोई कतार नहीं लगेगी

यात्री अपना भोजन स्वयं नहीं ला सकते। हर सीट पर पानी की बोतलें रखी होंगी

किसी भी समाचार पत्र, पत्रिकाओं की अनुमति नहीं होगी

loading…