लैंड करते ही विमान के उड़े बुरी तरह परखच्चे, 20 की मौत, देंखे खौफनाक तस्वीरें

नई दिल्ली | केरल में हुए विमान हादसे ने सभी देशवासियों को झकझोर कर रख दिया है। शुक्रवार को केरल के कोझिकोड में वंदे भारत मिशन के तहत दुबई से 190 लोगों को ला रहा एअर इंडिया एक्सप्रेस का विमान कोझीकोड के कारीपुर एयरपोर्ट पर लैंडिंग के वक्त फिसल गया और फिसलने के बाद विमान एयरपोर्ट से सटी घाटी में करीब 50 फीट गहरी खाई में गिरकर दो हिस्सों में टूट गया। इस घटना में विमान के पायलट समेत 20 लोगों की मौतें हुई हैं, जबकि कई यात्री घायल हुए हैं।

जब इस घटना की तस्वीरें सामने आईं तो मंजर हैरान करने वाला था। विमान में 10 बच्चे और चालक दल के चार सदस्य भी शामिल थे। विमान में 54 ऐसे लोग थे घूमने के लिए दुबई गए थे और कोरोना संक्रमण के कारण वहीं फंसे रह गए थे। 6 लोग वो थे जो मेडिकल कारणों की वजह से और तीन शादी के लिए भारत आ रहे थे। विमान में 26 यात्री ऐसे थे जिनकी नौकरी चली गई थी और 28 ऐसे थे जिनका वीज़ा एक्सपायर हो गया था। हादसे की खबर सुनते ही स्थानीय लोग भी दौड़ पड़े। चारों तरफ एंबुलेंस के सायरन की आवाजें थीं और बच्चों की चीख-पुकार।

केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बताया है कि इस मामले की जांच AAIB की दो टीमें करेंगी जो घटनास्थल पर पहुंच चुकी हैं। इसके अलावा अपने ताज़ा बयान में एयर इंडिया एक्सप्रेस ने कहा कि मुंबई और दिल्ली से यात्रियों और उनके परिजनों के लिए खास विमानों की व्यवस्था की गई है। सिविल एविएशन मिनिस्ट्री का जांच विभाग एयरक्राफ्ट एक्सीडेंट इन्वेसटिगेशन ब्यूरो (AAIB) इस दुर्घटना की जाच करेंगा।

बचावकर्मियों ने लोगों को बाहर निकाला। इस दौरान चार से पांच साल के छोटे बच्चे बचाव कर्मियों की गोद में चिपके दिखाई दिए और यात्रियों का सारा सामान यहां वहां बिखरा था।

विमान के एकाएक घाटी में गिर जाने से कोझिकोड में चारों ओर चीख-पुकार, खून से सने कपड़े, डरे सहमे रोते हुए बच्चे और एंबुलेंस के सायरन की आवाजों ने इलाके को दहला दिया।

बचावकर्मियों ने लोगों को बाहर निकाला। इस दौरान चार से पांच साल के छोटे बच्चे बचाव कर्मियों की गोद में चिपके दिखाई दिए और यात्रियों का सारा सामान यहां वहां बिखरा था। तेज आवाज सुन कर स्थानीय लोग भी मदद के लिए दौड़ पड़े। एक स्थानीय व्यक्ति ने कहा कि तेज आवाज सुन कर वह हवाईअड्डे की ओर भागा। उन्होंने कहा,’छोटे बच्चे सीटों के नीचे फंसे हुए थे और यह बेहद दुखद था। बहुत से लोग घायल थे। उनमें से कई की हालत गंभीर थी।’ उन्होंने कहा, ‘पैर टूटे हुए थे…मेरे हाथ और कमीज घायलों के खून से सनी हुई थी।’

 

Trending Posts

loading…