युवक ने मालिक से मांगी दो महीने की सैलरी, तो पीट-पीटकर कर ले ली जान

अलवर. बुधवार शाम कंपनी के संचालक रवि ने शिवचरण को लॉकडाउन खुलने पर काम करने के लिए बुलाया था. काम के बीच शिवचरण ने लॉकडाउन के दौरान का 2 माह का वेतन मांगा लेकिन रवि चौधरी ने वेतन देने से इंकार कर दिया.

फाइनेंस रिकवरी एजेंट के रूप में काम करता था युवककंपनी के संचालक और 10 लोगों ने की युवक की पीटकर हत्या
राजस्थान के अलवर शहर से दिलदहला देने वाला मामला सामने आया है, जहां ट्रांसपोर्ट नगर में फाइनेंस रिकवरी एजेंट के रूप में काम करने वाले युवक ने जब कंपनी के मालिक से दो महीने का बकाया वेतन मांगा तो उसकी पीट-पीट कर हत्या कर दी गई. एनईबी पुलिस ने मृतक शिवचरण का मेडीकल बोर्ड से पोस्टमॉर्टम करवा कर शव को परिजनों को सौंप दिया है.

फाइनेंस कंपनी के संचालक रवि चौधरी सहित एक दर्जन लोगों पर पीट-पीट कर हत्या करने का मामला दर्ज कर लिया गया है और मामले की जांच शुरू कर दी गई है. मृतक का नाम शिवचरण बताया जा रहा है. शिवचरण की मां राधा ने बताया कि उनका बेटा शिवचरण फाइनेंस कंपनी में रिकवरी फाइनेंस एजेंट का काम करता था. इस कंपनी का संचालक रवि चौधरी हैं जिसका ऑफिस एनईबी थाना क्षेत्र के अंतर्गत ट्रांसपोर्ट नगर में स्थित है.

जानकारी के मुताबिक, शिवचरण रवि चौधरी के पास कई साल से काम कर रहा था. बुधवार दोपहर रवि ने शिवचरण को लॉकडाउन खुलने पर काम करने के लिए बुलाया था. काम के बीच शिवचरण ने लॉकडाउन के दौरान का 2 माह का वेतन मांगा लेकिन रवि चौधरी ने वेतन देने से इंकार कर दिया.

इसके बाद शिवचरण ने वेतन न मिलने का विरोध किया साथ ही पुलिस से इस बात की शिकायत करने की धमकी दी. इससे नाराज होकर रवि और उसके 8-10 गुर्गों ने शिवचरण को गाड़ी में पटककर वाहनों को जमा करने वाले बाड़े पर ले गए. बाड़े में ले जाकर उन लोगों ने शिवचरण की बुरी तरह पिटाई की.

यह घटना बीती रात 11 बजे की है. इसके बाद कंपनी के संचालक ने परिजनों को देर रात फोन कर बताया कि शिवचरण की तबीयत खराब है, इसे अस्पताल लेकर जा रहे हैं. उसके बाद जब तक परिजन अस्पताल पहुंचे तो शिवचरण की मौत हो चुकी थी. मृतक की मां और परिजनों ने आरोप लगाया कि इस मामले में रवि चौधरी के दो अन्य भाई देवेंद्र चौधरी, मुकेश चौधरी और बंटी सरदार सहित कई लोग शामिल हैं.

पुलिस उपाधीक्षक नरेश शर्मा ने बताया कि राधा की शिकायत पर 302 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. दिन में झगड़ा हुआ था. मृतक की मां ने देवेंद्र चौधरी, रवि चौधरी, मुकेश चौधरी, बंटी सहित कई लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है.

उन्होंने आगे बताया कि शुरुआती जांच में यह बात सामने आई है कि उसकी मौत मारपीट के बाद हुई है और आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं. पुलिस ने बताया कि मेडिकल बोर्ड से पोस्टमॉर्टम कराकर शव परिजनों को सौंपा जा रहा है.

loading…