मौलाना साद पर की टिप्पणी तो BJP नेता को पीटकर कराई उठक-बैठक, मचा हडकंप

नालंदा। तब्लीगी मरकज जमात के मुखिया मौलाना साद के खिलाफ टिप्पणी करना बिहार में भाजपा नेता अरविंद ठाकुर को महंगा पड़ गया। एक विशेष वर्ग की नाराजगी झेलनी पड़ी। मामला नालंदा से जुड़ा हुआ है। भाजपा नेता को भरी पंचायत में उठक-बैठक करनी पड़ी। उन्‍हें पैर छूकर माफी मांगनी पड़ी। बताया जाता है कि इसके पहले उस भाजपा नेता के साथ मारपीट की गई। सोमवार को उसका वीडियो वायरल हुआ तो मामला तूल पकड़ लिया है। थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। बताया जाता है कि प्राथमिकी भी केवल वीडियो वायरल की गई है, जबकि अरविंद ठाकुर के साथ मारपीट भी की गई थी। वहीं अरविंद ठाकुर का कहना है कि पुलिस समझौते के लिए प्रेशर दे रही है। बता दें कि अरविंद ठाकुर वर्तमान सरपंच संजय ठाकुर का भाई हैं और ये भी हरगावां गांव के सरपंच रह चुके हैं।

जानकारी के अनुसार, नालंदा के अस्‍थावां प्रखंड में अरविंद ठाकुर भाजपा के सक्रिय कार्यकर्ता हैं। कहा जा रहा है कि उन्‍होंने तब्‍लीगी जमात के मुखिया मौलाना साद के खिलाफ टिप्‍पणी की थी। मामला 31 मार्च का है। बताया जाता है कि अरविंद ठाकुर ने कहा था तब्‍लीगी जमात के मुखिया मौलाना साद को जेल भेज देना चाहिए। इसी के बाद गिलानी पंचायत में एक खास वर्ग के लोगों में नाराजगी हो गई।

इसके बाद गिलानी पंचायत के मुखिया ननदे पासवान की अध्यक्षता में पंचायत बैठी। भरी पंचायत में अरविंद ठाकुर को कान पकड़कर उठक-बैठक करने की सजा सुनाई गई। पंचायत का सम्मान करते हुए भाजपा नेता अरविंद ने सजा स्वीकार कर ली। उन्‍होंने उठक-बैठक की। इतने पर भी बात नहीं बनी। तब भाजपा नेता ने पैर छूकर माफी भी मांगी। बताया जाता है कि इसके पहले कुछ लोगों ने उनके साथ मारपीट भी की।

जब सोशल मीडिया पर सोमवार को इसका वीडियो वायरल हुआ तो मामले ने तूल पकड़ लिया है। इस बाबत सारे थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है। इसमें पीड़ित भाजपा नेता अरविंद ठाकुर ने पिता-पुत्र को आरोपी बनाया है।

loading…