भारत ने इस चीज के लिए मांगा सहयोग, पाकिस्तान ने साधी चुप्पी

नई दिल्ली। पाकिस्तान से चला टिड्डी दल भारत के मध्य प्रदेश उत्तरी गुजरात और राजस्थान के इलाकों में कोहराम मचा रहा है। टिड्डियों के आतंक से किसान परेशान हैं। कोविड-19 (COVID-19) के बीच किसानों पर मंडराते इस संकट से उबरने के लिए भारत ने पाकिस्तान और ईरान से सहयोग की पेशकश की। भारत के प्रस्ताव पर जहां ईरान ने सहमति दे दी है वहीं पाकिस्तान की संकीर्ण सोच एक बार फिर सामने आई है। इस्लामाबाद से अभी तक कोई जवाब नहीं मिला है।

सभी कॉमेंट्स देखैंअपना कॉमेंट लिखेंसूत्रों ने बताया कि भारत ने कोविड-19 की तर्ज पर रेगिस्तानी टिड्डियों के प्रकोप को नियंत्रित करने के बारे में पहल की है। दक्षिण और दक्षिण पश्चिम एशिया में इसका प्रकोप फसलों को बर्बाद कर देता है। इस साल भी यह इलाका चुनौती का सामना कर रहा है। भारत ने पाकिस्तान को सुझाव दिया है कि दोनों देशों को टिड्डी नियंत्रण अभियान के लिए मिलकर काम करना चाहिए।

सूत्रों के मुताबिक, भारत ने ईरान को उसके सिस्तान-बलूचिस्तान और दक्षिण खोरासां प्रांतों में टिड्डियों के सफाये के लिए मेलाथियान कीटनाशक की सप्लाइ का ऑफर भी दिया है। नई दिल्ली को तेहरान से इस पहल को सकारात्मक जवाब मिला है जबकि पाकिस्तान ने अभी तक चुप्पी साध रखी है। सूत्रों के मुताबिक, देखना होगा क्या पाकिस्तान इस बार अपनी संकीर्ण सोच से ऊपर उठ पाता है।

पाकिस्तान से चला टिड्डी दल अब मध्यप्रदेश के कई इलाकों में कोहराम मचाने पहुंच गया है। टिड्डी दल के हमलों से किसान परेशान है। टिड्डी दल अब उज्जैन और आगर-मालवा के इलाके में पहुंच गया है। टिड्डियों को भगाने के लिए उन इलाकों में कीटनाशकों का छिड़काव किया जा रहा है। टिड्डी सब्जी की फसलों को नुकसान पहुंचा रहे हैं। स्थानीय प्रशासन इसे लेकर अलर्ट पर है।

loading…