भारत-चीन टेंशन के बीच आई चौकाने वाली खबर

नई दिल्ली: ईस्टर्न लद्दाख में लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर भारत और चीन की सेनाएं आमने सामने हैं। सैनिक डटे हुए हैं और गतिरोध लंबा चलने के आसार लग रहे हैं। ऐसे में दोनों देशों को रूस की तरफ से मिलिट्री एक्सरसाइज में शामिल होने का इनवाइट आया है। रूस मे अगले महीने ट्राई सर्विस (आर्मी, नेवी, एयरफोर्स) एक्सरसाइज होनी है। जिसमें भारत शामिल होगा। भारत के साथ ही इसमें पाकिस्तान और चीन को भी इनवाइट भेजा गया है। ये देश शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन (एससीओ) के सदस्य हैं।

रूस में 15 सितंबर से 26 सितंबर तक Kavkaz 2020 स्ट्रैटजिक कमांड पोस्ट एक्सरसाइज होनी है। यह एक्सरसाइज साउछ रूस में अस्त्रखान में होगी। भारतीय सेना के सूत्रों के मुताबिक भारत की तरफ से करीब 175 सैनिकों का दस्ता इसमें शामिल होगा इसमें आर्मी के ज्यादा सैनिक होंगे, नेवी और एयरफोर्स के सैनिक भी रहेंगे। इस एक्सरसाइज के लिए शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन के देशों के अलावा ईरान, टर्की सहित करीब 18 देशों को शामिल होने के लिए इनवाइट भेजा गया है।

एससीओ आठ देशों का संगठन है जिसमें भारत और पाकिस्तान 2017 में फुल मेंबर बने हैं। एससीओ में चीन, रूस, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, तजाकिस्तान और उजबेकिस्तान शामिल हैं। कोविड-19 की वजह से अब तक द्विपक्षीय और बहुपक्षीय मिलिट्री एक्सरसाइज नहीं हो पा रही थी। अगले महीने से इसकी शुरूआत हो सकती है।

Trending Posts

loading…