एक-एक करके 3 भाई-बहनों को कुल्हाड़ी से काटा, फिर रेप कर चौथे का भी कत्ल

जलगांव। महाराष्ट्र के जलगांव जिले की रावेर तहसील के बोरखेड़ा गांव में हुई चार नाबालिगों की निर्मम हत्या के मामले में पुलिस ने 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जानकारी के मुताबिक, आरोपियों ने अपना जुर्म कुबूल भी किया है। पुलिस की पूछताछ में आरोपियों ने चौंकाने वाले खुलासे किए। आरोपियों ने माना कि उनलोगों ने पहले रेप की कोशिश की थी। विरोध करने पर एक-एक करके तीन भाई-बहनों को कुल्हाड़ी से काट डाला। इसके बाद उनके बहने के साथ रेप किया और फिर उसका भी कत्ल कर डाला।

इस हिला देने मामले में राज्य सरकार भी सक्रिय हो गई है। राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख शनिवार को पीड़ित परिवार से दोपहर बाद मुलाकात करेंगे। पुलिस सूत्रों के अनुसार, इस डिटेक्शन में डॉग स्क्वायड की काफी मदद मिली। जब खोजी कुत्तों को खून से सनी कुल्हाड़ी सुंघाई गई तब खोजी कुत्ते पुलिस को रावेर तहसील के एक लॉज में लेकर गए। वहां पर पुलिस को एक संदिग्ध आरोपी मिला। इसके बाद पुलिस ने 5 लोगों को अपनी हिरासत में लिया। इन 5 लोगों में से 3 लोगों ने अपना जुर्म स्वीकार किया है।

आरोपियों ने बलात्कार के बाद की हत्या
पुलिस सूत्रों के अनुसार घटना इस प्रकार घटी। रात को जब बच्चे सो रहे थे, तब आरोपियों ने खिड़की तोड़कर उनके घर में प्रवेश किया और 14 वर्षीय लड़की के साथ बलात्कार करने की कोशिश की। इसी बीच बाकी भाई बहन की नींद टूट गई और वे बीच-बचाव करने लगे। आरोपियों ने एक-एक करके तीनों भाई-बहनों को मारा और फिर बारी-बारी से 14 वर्ष की लड़की के साथ बलात्कार किया। बलात्कार के बाद आरोपियों ने उसकी भी हत्या कर दी और फरार हो गए।

आदिवासी समाज के हैं आरोपी
पुलिस ने बताया कि पकड़े गए सभी आरोपी आदिवासी समाज से ताल्लुक रखते हैं और सभी की उम्र 21 से 23 साल के बीच में है। जलगांव शहर के संरक्षक मंत्री गुलाबराव पाटिल ने बताया कि इस मामले में तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। कथित रूप से इन लोगों ने कुल्हाड़ी से वारदात को अंजाम दिया था।

उन्होंने दो लाख रुपये आर्थिक सहायता पीड़ित परिवार को देने का ऐलान किया है। इस मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में होगी। वह इस मामले में सरकार से गुजारिश करेंगे कि सरकारी वकील के तौर पर उज्जवल निकम को नियुक्त किया जाए।

एमपी से आया था परिवार
मध्य प्रदेश से नौकरी की तलाश में यह परिवार महाराष्ट्र के जलगांव में आया था। महताब और उसकी पत्नी रूमली बाई भिलाला बोरखेड़ा गांव के ही मुस्तफा नाम के व्यक्ति के यहां खेती कर जीवनयापन करते हैं। महताब और उसकी पत्नी मध्य प्रदेश के गढ़ी इलाके के रहने वाले हैं। वारदात के वक्त मां-बाप अपने गृह राज्य गए थे। इसी दौरान यह दहला देने वाली घटना हो गई।

ये भी पढेंः खबरें हटके

big news

loading…